.

.

.

.
.

आजमगढ़: रमाकांत यादव को फर्जी मुकदमों में फंसाया गया है- धर्मेन्द्र यादव


सपा नेता ने विधायक के घर पंहुच परिजनो से मुलाकात की

इलेक्टोरल बॉन्ड का पैसा भाजपा अपने नेताओं में बांटी है - सपा प्रत्याशी

आजमगढ़: समाजवादी पार्टी के आजमगढ़ लोकसभा सीट से प्रत्याशी धर्मेन्द्र यादव ने आज पूर्व सांसद व विधायक रमाकान्त यादव के परानापुर आवास पर जाकर उनके परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने परिजनों को भरोसा दिलाया कि समाजवादी पार्टी पूरी तरह से उनके साथ है। उन्होंने बताया कि सपा विधायक रमाकान्त यादव को फर्जी तरीके से फंसाकर जेल में डाला गया है। वे जल्द ही जेल से बाहर आयेंगे। नेताजी द्वारा सजाई गई आजमगढ़ की इस राजनीतिक जमीन को हरा-भरा रखने के लिए हर समाजवादी सोच का व्यक्ति पूरी मजबूती के साथ एकजुट खड़ा है। आगामी चुनाव में वह पूरे मनोयोग के साथ वोट के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी सरकार के क्रूर और तानाशाही रवैये का जवाब देगा। 2024 के चुनाव में इण्डिया गठबन्धन की सरकार बनेगी। उसके बाद दिल्ली के जैक के जरिए टिकी उत्तर प्रदेश की सरकार अपने आप धराशाई हो जायेगी।
इलेक्टोरल बाण्ड को लेकर भाजपा सरकार पर कटाक्ष करते हुए धर्मेन्द्र यादव ने कहा कि जिस व्यापारी या बड़े कारोबारी के यहां इडी या सीबीआई का छापा पड़ता है उसके द्वारा इलेक्टोरल बाण्ड के माध्यम से भारतीय जनता पार्टी को बड़े पैमाने पर चंदा दिया गया है। इस पैसे को वह अपने नेताओं को तनख्वाह के रूप में देती है। चाहे कोई भी कितना भी भ्रष्टाचारी हो अगर वह भाजपा में चला गया तो ईडी और सीबीआई के लिए वह पूरी तरह साफ छवि का हो जाता है। इतना ही नहीं अगर कोई जनहित में भाजपा सरकार के खिलाफ मजबूती से खड़ा है तो उसे फर्जी तरीके से मुकदमें में फंसाकर जेल में डाल दिया जा रहा है। उन्होंने चुनौती भरे शब्दों में कहा कि भाजपा यह जान ले कि समाजवादी डरने वालों में से नहीं है। वे उसके अत्याचार के खिलाफ जमकर जवाब देंगे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment