.

.

.

.
.

आजमगढ़: नगर पालिका ने शुरू कराया बंदरों को पकड़ने का अभियान



मथुरा से आए मंकी कैचर ने पहली पारी में पकड़े 81 बंदर

शहर से ढाई से तीन हजार बंदरों को पकड़ने का है लक्ष्य - सरफराज आलम,चेयरमैन

आजमगढ़: नगर पालिका क्षेत्र में बंदरों के बढ़ते उत्पात के कारण आम जीवन त्रस्त हो गया था। कई संगठनों ने नगर पालिका व प्रशासन पर बंदरों के प्रति लापरवाही का आरोप लगाकर अधिकारियों को ज्ञापन भी सौंपे थे। इसी क्रम में नगर पालिका परिषद आजमगढ़ की तरफ से मथुरा से बंदरों को पकड़ने वाली टीम को बुलाया गया। बंदरों को पकड़ने का अभियान मंगलवार से कोर्ट कंपाउंड से शुरू हुआ। इस दौरान मथुरा से आए मंकी कैचर ने अपने विशेष तरीके से बंदरों को पकड़ने का अभियान शुरू किया। पहले दिन कुछ ही घंटे में 81 बंदर पकड़ लिए गए। इन बंदरों को जंगल में छोड़ा जाएगा। ताकि यह दोबारा वापस ना आएं। मामले में नगर पालिका अध्यक्ष सरफराज आलम मंसूर ने बताया कि काफी दिनों से बंदरों की समस्या आजमगढ़ में बरकरार थी और उनसे पहले के कार्यकाल में लोगों ने इसको लेकर लापरवाही बरती है। उनका अभी 10 माह का कार्यकाल ही हुआ है। इसमें उन्होंने इस अभियान को शुरू कराया। क्योंकि उनको इसकी जरूरत महसूस हो रही थी और कई जगह बच्चों और बड़ों पर बंदरों ने हमला किया था। इसके अलावा आर्थिक नुकसान भी हो रहा था। यह अभियान अभी चलेगा। ढाई से 3000 बंदरों को पकड़ने का लक्ष्य रखा गया है। वही मामले में मथुरा से आए मंकी कैचर माजिद अली ने बताया कि नगर पालिका के ईओ और अध्यक्ष की तरफ से उन लोगों को बुलाया गया है। इन बंदरों को सुरक्षित तरीके से पकड़ा जा रहा है ताकि यह घायल ना हों। इनको जंगल में छोड़ा जाएगा। यह निर्धारित करना नगर पालिका का काम है। वही अधिवक्ता ने भी इस कार्य को सराहा और कहा कि कई बार कोर्ट कैंपस में बंदरों ने हमला किया है। लोगों को काट लिया है इसके चलते काफी परेशानी होती है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment