.

.

.

.
.

आजमगढ़: राष्ट्र् के भविष्य की बुनियाद बच्चे ही होते हैं - डा० मनीष त्रिपाठी




धूमधाम से मनाया गया क्रीसेंट सिटी स्कूल का विज्ञान प्रदर्शनी समारोह

विज्ञान प्रदर्शनी में विभिन्न राज्यों की संस्कृति का भी समावेश किया गया

आजमगढ़: रविवार 03 दिसंबर को बूढ़नपुर क्षेत्र स्थित क्रीसेंट सिटी स्कूल का विज्ञान प्रदर्शनी समारोह बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुfभारंभ मुख्य अतिथि डॉक्टर मनीष त्रिपाठ ,विद्यालय के डायरेक्टर भानु प्रताप सिंह तथा प्रधानाचार्या श्रीमती अंजली सिंह के साथ दीप प्रज्ज्वलित करके किया। विद्यालय के बच्चों द्वारा विज्ञान पर भव्य प्रस्तुतियों की गई। कार्यक्रम में आए हुए सभी अतिथियों का स्वागत विद्यालय के छात्र-छात्राओं द्वारा किया गया। स्वागत गीत के पश्चात नर्सरी के बच्चों द्वारा जंगल प्रदर्शनी पर बहुत ही मनोरम दृश्य प्रस्तुत किया गया। बच्चों ने पृथ्वी को सुरक्षित रखने के लिए बहुत ही सुंदर प्रस्तुति दी जो दर्शकों के आकर्षण का केंद्र रहा। बच्चो ने स्कूल का स्वरूप चित्रण प्रस्तुत किया जो बहुत ही अद्भुत था। विद्यार्थियों ने सौर मंडल की अद्भुत प्रस्तुति दी जो एक नई ऊर्जा दी। वहीं कक्षा 5,6 के बच्चों ने कुतुबमीनार और ताजमहल के स्वरूप की अद्भुत प्रस्तुती दी जिसे देख कर अभिभावकों को बच्चों की भिन्न-भिन्न प्रतिभाओं को पहचानने की मिसाल पेश की। क्षेत्रीय स्तर पर भी बच्चों की बहुमुखी प्रतिभा का विकास करना है इस विषय को दृष्टिगत रखते हुए इस विज्ञान प्रदर्शनी में विभिन्न राज्यों की संस्कृति का भी समावेश किया गया। जिसको चरितार्थ करते हुए एकता में अनेकता के थीम पर विभिन्न राज्यों की लोक संस्कृति को शामिल करते हुए के भव्य प्रस्तुति की गई । आधारित बहुआयामी शिक्षा को विकसित करने के उद्देश्य से क्रीसेंट सिटी स्कूल में संचालित विज्ञान प्रदर्शनी और बाल मेला के बच्चों ने सुंदर सामूहिक प्रस्तुत किया इजरायल और हमास युद्ध की थीम पर कक्षा 7,8,9 की छात्राओं ने एक प्रभावशाली प्रस्तुति दी। बाल मेला की अद्भुत प्रस्तुति ने भी दर्शकों पर अपना खूब रंग जमाया। विद्यालय के कक्षा 2,3,4 के विद्यार्थियों ने भी बढ़-चढ़कर कर प्रतिभाग किया।
कार्यक्रम के अंत में मुख्य अतिथि डॉ मनीष त्रिपाठी ने कहा कि राष्ट्र् के भविष्य की बुनियाद बच्चें होते हैं। ये उस राष्ट्र्‌रुपी वृक्ष की जडें हैं जो नइ पीढ़ी को कार्य, आराधना तथा विद्वता के फल प्रदान करती है। इन बच्चों को भविष्य की लम्बी राह तय करनी है तथा राष्ट्र को सफलता के मार्ग पर ले जाना है। क्रीसेंट सिटी स्कूल बच्चों को राष्ट्र के स्वर्णिमस्वप्न को साकार करने के लिए एक नई पीढ़ी के रूप में तैयार कर रहा है। इसे सशक्त बनाना है जो विद्यार्थियों के उज्ज्वल भविष्य की रुपरेखा तय करते हैं तथा उनके लिए नई सम्भावनाऍं पैदा करते हैं। विद्यालय के डायरेक्ट श्री भानु प्रताप सिंह ने बताया कि शैक्षणिक उत्कृष्टता के अलावा क्रीसेंट सिटी स्कूल छात्रों को उनके चरित्र और समुदाय की भावना विकसित करने में मदद करने के लिए भी समर्पित है। यहां विद्यार्थियों को अपनी रुचियों का पता लगाने, नए कौशल विकसित करने और अपने समुदाय को छात्रों को सहायक और चुनौतीपूर्ण वातावरण में सीखने और बढ़ने का अवसर दिया जाता है l
किसी राष्ट्र् के भविष्य को आकार देने का प्राथमिक उतरदायित्व तीन लोगों पर है माता, पिता एवं शिक्षक। इनमें से शिक्षक सर्वमहत्त्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं चूंकि ये इस कार्य में विशेष तौर पर प्रशिक्षित तथा चयनित होते हैं और अपनी क्षमतानुरुप इस कर्त्तव्य को निभाते हैं। एक शिक्षक विद्यार्थियों, अभिभावकों तथा समाज के विश्वास का पात्र होता है और इस विश्वास को पूरी सत्यनिष्ठा के साथ निभाना उसका धर्म होता है, वह प्रत्येक परिस्थिति में अपने विद्यार्थियों पर आशीर्वाद की वर्षा करता है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment