.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ: त्योहारों पर 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाय: कमिश्नर


राज्य स्तर रैंकिंग में आज़मगढ़ मण्डल की भारी छलांग, मिला तीसरा स्थान

जिन सड़कों को गड्ढामुक्त किया जाना है वह 15 नवम्बर तक हर हालत में हो जाएं

आज़मगढ़ 18 अक्टूबर -- मण्डलायुक्त मनीष चौहान ने कहा है कि आगामी दिनों में पड़ने वाले त्योहारों पर जनसुविधा के दृष्टिगत शासन द्वारा 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि शासन की मंशा के अनुरूप त्योहारों के अवसर पर निर्बाध्य रूप से 24 घण्टे विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाय। उन्होंने कहा कि बार-बार हो रही ट्रिपिंग के कारण प्रायः असहज स्थिति उत्पन्न हो जाया करती है, इसलिए इस ओर तत्परता से ध्यान देकर प्राथमिकता के आधार पर इसे दुरुस्त कराया जाय। मण्डलायुक्त श्री चौहान ने मंगलवार को अपने कार्यालय सभागार में आयोजित सर्वोच्च विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान बताया कि राज्य स्तर पर हुई रैंकिंग में आज़मगढ़ को तीसरा स्थान प्राप्त हुआ है। यह उपलब्धि निश्चित रूप से सराहनीय है, परन्तु अभी भी कई विभाग ऐसे हैं जिनकी प्रगति सन्तोषजनक नहीं है। उन्होने ऐसे विभागों के अधिकारियों को पूरी निष्ठा और लगन से कार्य अपेक्षानुरूप प्रगति लाने की हिदायत दी। उन्होंने सभी अधिकारियों से कहा कि इस उपलब्धि से प्रेरणा लेकर विभागीय कार्यों में और अधिक प्रगति लाते हुए मण्डल को टॉप पर लाया जा सकता है। समीक्षा के दौरान मण्डलायुक्त श्री चौहान ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि बारिश का मौसम समाप्त हो गया है, इसलिए सड़कों की मरम्मत का कार्य तत्काल शुरू करायें तथा सुनिश्चित करें कि जिन सड़कों को गड्ढामुक्त किया जाना है वह 15 नवम्बर तक हर हालत में गड्ढामुक्त हो जायें।
मण्डलायुक्त मनीष चौहान ने स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षा में पाया कि आयुष्मान भारत योजना के तहत गोल्डेन कार्ड बनाने में कुछ प्रगति हुई है। गत माह आज़मगढ़ में 9045, मऊ में 28307 एवं बलिया में 1592 गोल्डेन कार्ड बनाये गये हैं। उन्होंने जनपद मऊ की अपेक्षा आज़मगढ़ एवं बलिया में कम प्रगति पाये जाने पर असन्तोष व्यक्त किया तथा इस ओर विशेष ध्यान देकर अपेक्षित प्रगति लाने हेतु निर्देशित किया। पीपीपी परियोजनाओं की समीक्षा में विदित हुआ कि प्रतिदिन औसतन आज़मगढ़ में 85, मऊ में 42 एवं बलिया में 75 सीटी स्कैन किये गये हैं तथा सभी में रोगियों को रिपोर्ट उपलब्ध करा दी गयी है। इसी प्रकार आज़मगढ़ में 94, मऊ में 96 एवं बलिया 804 लाभार्थियों द्वारा माह में टेलीरेडियोलॉजी की सेवा प्राप्त की गयी है। मण्डलायुक्त ने बलिया की अपेक्षा आज़मगढ़ एवं मऊ में लाभार्थियों की संख्या कम होने के सम्बन्ध में अपर निदेशक, स्वास्थ्य को परीक्षण कर रिपोर्ट देने हेतु निर्देशित किया। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की समीक्षा में पाया गया कि गत माह तक मोबाइल हेल्थ टीमों द्वारा स्कूलों एवं आंगनबाड़ी में आज़मगढ़ में कुल 19775, मऊ में 6009 एवं बलिया में 4294 बच्चों में 4डी चिन्हित किया गया, जिसमें से क्रमशः 14624, 5244 एवं 3747 बच्चों को उपचारित किया गया, शेष उपचार हेतु लम्बित हैं। मण्डलायुक्त ने निर्देश दिया कि उपचार हेतु अवशेष बच्चों को शीघ्र उपचारित कराया जाय। उन्होंने जिला चिकित्सालय बलिया में कम सीजेरियन होने पर असन्तोष व्यक्त किया तथा निर्देश दिया कि इसे और बढ़ाया जाय तथा इसमें किसी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। श्री चौहान ने जनपदों में सीएचसी पर सीजेरियन कम होने तथा रात्रि में सीएचसी एवं पीएचसी पर प्रसव नहीं कराये जाने पर नाराजगी व्यक्त किया तथा तीनों जनपद के जिलाधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी सीएचसी एवं पीएचसी का लक्ष्य निर्धारित किया जाय। खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग के कार्यों की समीक्षा के दौरान अवगत कराया गया कि जनपदों में आरसी जारी करने हेतु बड़ी संख्या में प्रकरण लम्बित हैं, जबकि निर्धारित अवधि काफी पहले ही समाप्त हो चुकी है। इस सम्बन्ध में उन्होंने सहायक आयुक्त, खाद्य सुरक्षा को निर्देशित किया कि विभाग के जनपदीय अधिकारी के साथ सम्बन्धित जिलाधिकारी से सम्पर्क कर पूर्ण विवरण उपलब्ध कराते हुए आरसी निर्गत करायें। उन्होंने आईजीआरएस के सम्बन्ध में जिलाधिकारियों से कहा कि जिन विभागों के कारण रैंकिंग खराब हो रही है उन विभागों से स्पष्टीकरण प्राप्त करें। बैठक में अमृत योजना, जल जीवन मिशन, आपरेशन कायाकल्प, किसान सम्मान निधि योजना, निराश्रित गोवंश संरक्षण आदि के सम्बन्ध में विस्तार से चर्चा की गयी।



इस अवसर पर जिलाधिकारी आज़मगढ़ विशाल भारद्वाज, जिलाधिकारी मऊ अरुण कुमार, जिलाधिकारी बलिया सौम्या अग्रवाल, अपर आयुक्त (न्यायिक) हंसराज, संयुक्त विकास आयुक्त ओपी आर्य, सीडीओ आज़मगढ़ आनन्द कुमार शुक्ला, सीडीओ मऊ प्रशान्त नागर, सीडीओ बलिया प्रवीण कुमार वर्मा, डीएफओ बलिया श्रद्धा यादव, मण्डलीय अर्थ एवं संख्याधिकारी डा. नीरज श्रीवास्तव, मुख्य अभियन्ता विद्युत, अपर निदेशक, स्वास्थ्य सहित अन्य सम्बन्धित मण्डलीय अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment