.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: डीएम की नजर पड़ी तो वर्षों की समस्या का हुआ पल भर में समाधान


लालगंज में अस्पताल के सामने चरागाह की भूमि पर बने कमरों पर चल गया बुलडोजर

आजमगढ़ : अफसर मन से चाह लें, तो क्या नहीं हो सकता। यह सच साबित हो गया लालगंज में, जब डीएम के पहुंचने के दूसरे ही दिन रविवार की देर शाम अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कार्रवाई की गई। बहुत दिनों से जो बात लोगों को खटक रही थी उसे डीएम ने अपनी आंखों से देखा, तो समस्या का पल भर में समाधान हो गया। रात भर में पैमाइश हो गई और सौ शैय्या अस्पताल के सामने चरागाह की भूमि पर बने कमरों पर दूसरे ही दिन प्रशासन का बुलडोजर चल गया। पक्के निर्माण को गिरते देख अतिक्रमण करने वाले कलेजे पर हाथ धरे मौन थे, क्योंकि किसी विरोध से निपटने के लिए फोर्स लगाई गई थी। कार्रवाई को देख दूसरे उन लोगों की भी धड़कनें बढ़ गईं, जिन्होंने गलत तरीके से निर्माण कराया है। आसपास के लोगों ने कहा कि अब अस्पताल की भव्यता दूर से भी देखी जा सकेगी। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिसर में निर्माणाधीन सौ शैय्या चिकित्सालय के मुख्य गेट पर चरागाह की जमीन पर लगभग तीन दर्जन दुकानों का निर्माण किया गया था। काफी पहले हुए निर्माण पर आज तक किसी की नजर नहीं पहुंची थी, लेकिन डीएम पहुंचे तो आसपास के लोगों ने उनके संज्ञान में मामले को लाया। शनिवार को ही डीएम ने जांच के बाद अतिक्रमण हटाने का आदेश दे दिया था।रात भर में जांच पूरी हुई तो पता चला कि निर्माण चरागाह की भूमि पर किया गया है। रविवार की शाम बुलडोजर चलते ही अतिक्रमणकर्ता अपनी दुकानों का सामान लेकर बाहर भागने लगे। कार्रवाई के दौरान उपजिलाधिकारी सुरेंद्र नारायण त्रिपाठी, क्षेत्राधिकारी मनोज रघुवंशी, तहसीलदार उमाशंकर त्रिपाठी, नायब तहसीलदार पंकज शाही, कोतवाल शशिमौलि पांडेय मयफोर्स उपस्थित रहे। उपजिलाधिकारी ने बताया कि चरागाह की भूमि पर अवैध कब्जा किया गया था।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment