.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: कार्तिक पुर्णिमा पर हजारों लोगों ने लगाई आस्था की डुबकी 



नदी-सरोवरों के किनारे उमड़ा सैलाब, दुर्वासा, अवंतिकापुर और भैरव धाम पर रही सर्वाधिक भीड़

आजमगढ़ : कार्तिक पूर्णिमा पर शुक्रवार की भोर से पहले ही विभिन्न नदी व सरोवरों में स्नान के लिए हजारों लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। हल्की ठंड के बीच आधी रात के बाद ही स्नान का सिलसिला शुरू हुआ तो दोपहर बाद तक चलता रहा। लोगों ने स्नान-दान व दर्शन-पूजन के बाद मेले का आनंद उठाया। दुर्वासा, अवंतिकापुर और भैरव धाम पर सर्वाधिक भीड़ रही। दुर्वासा धाम स्थित तमसा-मंजूषा नदियों के संगम में हजारों श्रद्धालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई। उसके बाद मेले में जमकर खरीददारी की। एक दिन पहले से ही धाम पर श्रद्धालुओं के पहुंचने के सिलसिला शुरू हो गया था। स्नान के बाद महर्षि दुर्वासा एवं शिवजी का दर्शन किया गया। लोगों ने भांग, धतुरा, फूल आदि चढ़ाकर सुख-समृद्धि की कामना की। झूला महिलाओं, युवाओं एवं बच्चों के आकर्षण का केंद्र बना रहा। वहीं घरेलू सामानों की बड़े पैमाने पर लोगों ने खरीदारी की।लौटते समय खजला और चोटहिया जलेबी ले जाना लोग नहीं भूले। सुरक्षा व्यवस्था के लिए फूलपुर, दीदारगंज, अहरौला की पुलिस के साथ ही पीएसी तैनात की गई थी। शनिवार को दुर्वासा धाम पर स्थानीय मेला लगेगा। मेंहनगर क्षेत्र के ग्राम गौरा स्थित श्री मंडलेश्वर महादेव स्थल के सरोवर में शुक्रवार की भोर से ही आस्था की डुबकी लगाकर लोगों ने शिवलिग पर जलाभिषेक किया। हर-हर महादेव के उद्घोष से इलाका गुंजायमान रहा। मान्यता है कि सरोवर में पांच सोमवार डुबकी लगाकर शिवलिग पर जलाभिषेक करने से चर्म रोग से मुक्ति मिलती हैं। गन्ने के खेत में अगर चूहा लगते हैं, तो शंकर जी के दरबार में पांच पेड़ गन्ना चढ़ाने से नहीं लगते। रानी की सराय में अवंतिकापुरी स्थित 84 बीघे के सरोवर में शुक्रवार को श्रद्वालुओं ने आस्था की डुबकी लगाई और मंदिर में पूजन-अर्चन किया।इस दौरान लोगों ने खरीदारी भी की। तकरीबन दो किमी की परिधि में दुकाने लगी रहीं। मेले में कृषि उपकरण की भी दुकाने लगी रहीं। सुरक्षा के लिए रानी की सराय, गंभीरपुर पुलिस तैनात रही।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment