.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: फर्जी डिग्री पर नौकरी कर रहे हैं जिले के 43 और शिक्षक


पूर्व में दर्जन भर शिक्षक पाए जा चुके है फर्जी,हो चुकी है कार्रवाई

कार्रवाई में जुटा विभाग, बर्खास्त करने के साथ ही दर्ज करायी जाएगी एफआईआर
आजमगढ़: जिले में फर्जी शिक्षकों के मिलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। दो साल पूर्व 14 शिक्षक संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय की फर्जी डिग्रियों से नौकरी करते पकड़े गए थे। इसके बाद करीब आधा दर्जन शिक्षक बीएड आदि की फर्जी डिग्री के सहारे नौकरी करते पाए गए। इन्हें बर्खास्त किया जा चुका है लेकिन अब एसआईटी ने जो खुलासा किया है वह चौकाने वाला है। यूपी के 75 जिलों में शिक्षक संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय की फर्जी डिग्री से प्राथमिक विद्यालयों में 1130 लोग शिक्षक की नौकरी करते हुए पकड़े गए है। इसमें 43 शिक्षक आजमगढ़ के है। इन शिक्षकों को बर्खास्त कर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की तैयारी शुरू हो गयी।
बता दें कि प्रदेश भर में फर्जी डिग्री के सहारे शिक्षक की नौकरी के मामले प्रकाश में आने के बाद पिछले दिनों सरकार ने एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी सेे 2004 से 2014 के बीच प्राथमिक विद्यालयों में चयनित उन शिक्षकों के अभिलेखों का दोबारा सत्यापन कराया, जिन्होंने संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय से डिग्री हासिल की थी। जिले में संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय की डिग्री पर शिक्षक की नौकरी कर रहे 125 शिक्षकों का डाटा सत्यापन के लिए भेजा गया था।
इन शिक्षकों के अभिलेखों की जांच के बाद बड़ा खुलासा एसआईटी द्वारा किया गया। जांच में 43 शिक्षकों की डिग्री फर्जी पाई गयी। इस फर्जीवाड़े में विश्वविद्यालय के अधिकारी और कर्मचारियों की भी संलिप्तता की आशंका जताई गयी है जिसकी जांच जारी है। एसआईटी के खुलासे के बाद जिले में हड़कंप मचा हुआ है। फर्जी डिग्री पर नौकरी करने वाले शिक्षक स्कूल से गायब हो गये है। वहीं बेसिक शिक्षा विभाग इनके खिलाफ कार्रवाई की तैयारी में जुटा है।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अंबरीश कुमार का कहना है कि जिले में जितने भी शिक्षक तैनात हैं सभी का अभिलेख सत्यापन के लिए संबंधित कालेजों और विश्वविद्यालयों में भेजा गया है। जिसमें संपूर्णानंद संस्कृत विश्वविद्यालय की डिग्री पर नौकरी करने वाले 43 शिक्षकों की डिग्री फर्जी पाई गयी है। फर्जी डिग्री पर नौकरी करने वाले सभी शिक्षकों के खिलाफ बर्खास्तगी की कार्रवाई करते हुए उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जा रही है। साथ ही इनके द्वारा लिये गए वेतन की रिकवरी कराई जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment