.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: मण्डलायुक्त पहुंचे तहसील मेंहनगर, सम्पूर्ण समाधान दिवस का किया निरीक्षण


शिकायतकर्ताओ से फोन पर बात कर निस्तारण की स्थिति जाना

आज़मगढ़ 2 फरवरी -- मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने तहसीलों पर आयोजित होने वाले सम्पूर्ण समाधान दिवसों में जन समस्याओं की सुनवाई और उसके निस्तारण की स्थिति जानने हेतु मंगलवार को अचानक तहसील मेंहनगर पहुंचें तथ वहाॅं आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस का विधिवत निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने पूर्व में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवसों में आम जन से प्राप्त शिकायतों के निस्तारण की स्थिति की रैण्डम जाॅंच हेतु निस्तारित मामलों से सम्बन्धित शिकायतकर्ता से दूरभाष पर सीधे वार्ता किया। इस दौरान कई फरियादियों के मोबाइल नम्बर गलत मिलने पर उन्होंने वहाॅं उपस्थित फरियादियों से कहा कि आप लोग अपना सही और सक्रिय नम्बर प्रार्थना पत्र पर अंकित करें, जिससे निस्तारण की रैण्डम चेकिंग हो सके। मण्डलायुक्त श्री पन्त से दूरभाष पर वार्ता के दौरान डीहा निवासी रामचेत पुत्र जगदेव ने बताया कि चक मार्ग पर अवैध कब्जे से सम्बन्धित शिकायती प्रार्थना पत्र उनके द्वारा गत सम्पूर्ण समाधान दिवस में दिया गया था, परन्तु उसका निस्तारण अभी तक नहीं हुआ है। जबकि निस्तारण सम्बन्धी रजिस्टर में राजस्व निरीक्षक द्वारा उल्लिखित किया गया है कि एक सप्ताह में चकमार्ग से दीवार हटा लेने की सहमति बन गयी है। मण्डलायुक्त ने इस स्थिति पर असन्तोष व्यक्त करते हुए प्रकरण को अनिस्तारित माना तथा सम्बन्धित राजस्व निरीक्षक को तत्काल मौके पर जाकर गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कर वस्तुस्थिति से अवगत कराने का निर्देश दिया। इसी प्रकार 4-5 अन्य शिकायतकर्ता से भी उन्होंने दूरभाष पर बात कर निस्तारण की स्थिति के सम्बन्ध में जाना, जिसमें कुछ मामलों का निस्तारित होना कुछ का अनिस्तारित होना बताया गया। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने उपस्थित सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि आम जन से प्राप्त शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण और ठोस निस्तारण सुनिश्चित किया जाय। इसी क्रम में उन्होंने उप जिलाधिकारी मेंहनगर को निस्तारण की गुणवत्ता की नियमित रूप से मानीटरिंग करने तथा निस्तारण की रैण्डम चेकिंग करने का निर्देश दिया।



मण्डलायुक्त विजय विश्वास प ने इस दौरान कई फरियादियों से उनकी समस्यायें भी सुनीं, जो भूमि विवाद से सम्बन्धित थीं। उन्होंने उप जिलाधिकारी मेंहनगर प्रियंका प्रियदर्शिनी को निर्देश दिया कि आम जन से जो भी शिकायतें प्राप्त हो रही हैं उसका समयबद्ध रूप से स्थायी निस्तारण कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी कहा कि समस्याओं का गुणवत्तापूर्ण एवं स्थायी निस्तारण तभी माना जायेगा जब फदियादी को उसी समस्या को लेकर पुनः तहसील अथवा जिला मुख्यालय तक जाने की जरूरत न पड़े। इस दौरान एक शिकायतकर्ता द्वारा भारी स्टाम्प चोरी किये जाने से सम्बन्धित प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किया, जिसे मण्डलायुक्त ने उपजिलाधिकारी को हस्तान्तरित करते हुए निर्देश दिया कि इस मामले की तथा गंभीर प्रकृति के अन्य मामलों की स्वयं जाॅंच कर वस्तुस्थिति से अवगत करायें। मण्डलायुक्त जिस समय तहसील पहुंचे उस समय उपजिलाधिकारी प्रियंका प्रियदर्शिनी आम जन से उनकी समस्यायें सुन रही थीं। इस दौरान अधिकारियों के समक्ष राजस्व विभाग से सम्बन्धित 11, विकास के 7, पुलिस के 4, बाल विकास के 3 तथा वन एवं विद्युत विभाग से सम्बन्धित 1-1 प्रार्थना पत्र प्रस्तुत किये गये। इस दौरान मण्डलायुक्त ने भूमि विवाद से सम्बन्धित तीन मामलों में राजस्व निरीक्षकों को मौके पर इस इस निर्देश के साथ भेजा कि प्रकरण का निस्तारण करते हुए सायं तक वस्तुस्थिति से अवगत करायें। शेष मामलों के समयबद्ध निस्तारण हेतु सम्बन्धित विभागों को हस्तान्तरित किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment