.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: जच्चा-बच्चा की इलाज के दौरान मौत, महिला अस्पताल में हंगामा


परिजन ने लगाया डाक्टर, स्टाफ नर्स पर रुपये न मिलने पर लापरवाही का आरोप

शहर कोतवाल ने संभाला मामला, पोस्टमार्टम की कराई गई वीडीयोग्राफी

आजमगढ़ : जिला महिला अस्पताल में प्रसव के लिए भर्ती जच्चा-बच्चा की इलाज के दौरान मौत हो गई। इससे नाराज स्वजनों ने अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप जड़ते हुए जमकर हंगामा मचाया। स्वजन चिल्ला-चिल्लाकर आरोप लगा रहे थे कि रुपये की डिमांड पूरी न किए जाने की नाराजगी में लापरवाही बरती गई है। कोतवाली पुलिस पहुंची तो समझाने पर स्वजन शांत पड़ पाए। आरोप गंभीर प्रतीत होने पर पुलिस ने शव के पोस्टमार्टम की वीडीयो ग्राफी कराई। कोतवाल कृष्ण कुमार गुप्ता ने कहाकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर सीएमओ की ओपीनियन लेने के बाद ही कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
शहर से सटे समेंदा गांव की सुषमा (30) पत्नी इंद्रजीत को प्रसव के लिए जिला महिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। वहां इलाज के कुछ देर बाद ही जच्चा-बच्चा की मौत हो गई। दोनों की सांसें कमजोर पड़ते ही स्वजन आपा खो बैठे। हो-हल्ला मचा तो कोतवाली पुलिस पहुंच गई। पीड़ित परिवार के लोगों ने कहा कि इलाज शुरू करने से पूर्व ही रुपये की डिमांड की गई। इंकार करने पर इलाज में लापरवाही बरती गई। पुलिस के समझाने पर लोगों का गुस्सा ठंडा पड़ गया। पुलिस ने परिवार को भरोसा दिया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट की वीडीयोग्राफी कराई जाएगी। परिजन संतुष्ट हुए तो शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा सका। सीएमएस डॉ. मंजुला सिंह ने कहा कि गर्भवती काे तड़के तीन बजे प्रसव के लिए लाया गया था। गभर्वती के शरीर में खून की कमी थी। उसे किसी निजी अस्पताल से रेफर किया गया था। उसके बावजूद भर्ती कर उसे बचाने की कोशिश की गई। चिकित्सक असलम खुद इलाज को मौजूद रहे। ऐसे में लापरवाही की बात मेरे समझ से परे है। चूंकि परिजन रुपये की डिमांड किए जाने का आरोप लगा रहे, ऐसे में जांच कराई जाएगी। आरोप सच निकला तो कार्रवाई की जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment