.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़ : नियुक्ति पत्र प्राप्त कर चुके तीन शिक्षकों की रोकी गई पोस्टिंग


03 शिक्षकों के अभिलेखों में गड़बड़ी मिलीं,नोटिस का भी नही दिया जवाब

आजमगढ़: बेसिक शिक्षा के 31,277 शिक्षक भर्ती के तहत नियुक्ति पत्र प्राप्त कर चुके तीन शिक्षकों को तैनाती नहीं जाएगी। सत्यापन में इन शिक्षकों के अभिलेख संदिग्ध मिले थे। बीएसए ने तीनों शिक्षकों को 26 अक्टूबर को कारण बताओ नोटिस जारी कर दो दिनों के अंदर स्पष्टीकरण मांगा था, लेकिन निर्धारित समय पर साक्ष्य सहित जवाब नहीं दिया गया। अब इनकी नियुक्ति निरस्त करने की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी।
शिक्षा क्षेत्र तहबरपुर के महुवार गांव निवासी महेश कुमार गुप्ता पुत्र रामजतन गुप्ता 15 अक्टूबर को काउंसिलिग में शामिल हुए थे। 16 अक्टूबर को नियुक्ति पत्र भी ले चुके हैं। अभिलेखों की जांच में पाया गया कि उन्होंने बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर (आंशिक परीक्षा) की परीक्षा 2019 में पास की है, जो शासनादेश में निहित प्रावधानों के अनुसार मान्य नहीं हैं। जबकि थाना सिधारी के हेंगापुर गांव निवासी दिनेश यादव पुत्र चंद्रभान यादव ने बीएड की डिग्री कश्मीर विश्वविद्यालय श्रीनगर से प्राप्त की है। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 अद्यतन संशोधित में वर्णित एनसीटीइ से मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान से शैक्षिक अर्हता(योग्यता) नहीं प्राप्त की गई है। उनकी नियुक्ति उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा (अध्यापक) सेवा नियमावली 1981 (अद्यतन संशोधित) के नियम- (दो) के तहत प्राविधानों के विपरीत है। वहीं, मऊ जिले के दोहरीघाट थाना के विश्वनाथपुर निवासी अमरेश मिश्रा पुत्र विद्यासागर मिश्रा ने बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर की मार्कशीट (आंशिक परीक्षा) की परीक्षा 2019 में पास की है, जो शासनादेश में निहित प्राविधानों के अनुसार मान्य नहीं है। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अंबरीष कुमार ने बताया की
चयनित तीन शिक्षकों के अभिलेखों में गड़बड़ी मिलीं हैं। नोटिस जारी कर दो दिन के अंदर जवाब मांगा गया था, लेकिन चार दिन बाद भी स्पष्टीकरण प्रस्तुत नहीं किया गया। अब इनकी नियुक्ति निरस्त की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment