.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: नई खेल प्रतिभाओं की खोज में शिक्षा विभाग की भूमिका महत्वपूर्ण: मण्डलायुक्त


स्टेडियम के सुदृढ़ीकरण, उच्चीकरण आदि के सम्बन्ध में शासन को आगणन 10 अक्टूबर तक अनिवार्य रूप से भेजें- कमिश्नर


आज़मगढ़ 8 अक्टूबर - मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने कहा है कि खेलकूद से जुड़ी नई प्रतिभाओं की खोज में शिक्षा विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, इसलिए शिक्षा विभाग के अधिकारी नई प्रतिभाओं की खोज करने एवं उनमें निखार लाने में अपनी बेस्ट परफार्मेन्स दें। मण्डलायुक्त श्री पन्त की अध्यक्षता में बुधवार को देर सायं उनके कार्यालय के सभागार में मण्डलीय खेल विकास एवं प्रोत्साहन समिति की आयोजित बैठक में उन्होंने क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी को निर्देशित किया कि मण्डल के जनपदों में ‘पे एण्ड प्ले’ तथा ‘कम एण्ड प्ले’ के क्रियान्वयन के अन्तर्गत समस्त अवस्थापनाओं का पूर्ण उपयोग किया जाय। उन्होंने कहा कि शासन के निर्देशानुसार अवस्थापनाओं को निष्प्रयोज्य होने से बचाने के लिए यूजर चार्ज व फीस के माध्यम से जिला स्तर पर आय के स्रोत को बढ़ाया जाय। मण्डलायुक्त ने कहा कि स्टेडियम में आने वाले गणमान्य व्यक्तियों या वरिष्ठ लोगों को स्टेडियम का लाईफ टाइम मेम्बर बना कर उनसे एकमुश्त शुल्क धनराशि प्रोत्साहन समिति में जमा कराने के लिए निरन्त लोगों से सम्पर्क बनाये तथा उन्हें लाइफटाइम मेम्बरशिप के प्रेरित करें। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने कहा कि वर्तमान समय में खेलकूद के प्रति लोगों दिलचस्पी बढ़ी है, परन्तु दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में मूलभूत सुविधाओं की कमी और खेल विभाग की योजनाओं की पर्याप्त जानकारी के अभाव के कारण नई प्रतिभाओं को समुचित अवसर नहीं मिल पाता है। उन्होंने निर्देश दिया कि शिक्षा, स्वास्थ्य, युवा कल्याण आदि विभाग आपसी सामन्जस्य बना कर खेलकूद से सम्बन्धित समस्त योजनाओं का व्यापक स्तर से प्रचार प्रसार करें ताकि नई प्रतिओं की खोज कर उन्हें निखारा और संवारा जा सके। बैठक में पेन्चेक सिलाट के अन्तर्राष्ट्रीय खिलाड़ी सूरज प्रकाश श्रीवास्तव एवं जिला ओलम्पिक संघ के सचिव अजयेन्द्र राय ने स्थानीय सुखदेव पहलवान स्पोर्ट्स स्टेडियम के पास खाली पड़े छात्रावास को किसी एक खेल के छात्रावास के रूप में संचालित किये जाने के सुझाव पर मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आरपी सिंह को निर्देश दिया कि उक्त छात्रावास को स्पोर्ट्स हास्टल के रूप में संचालित करने, स्टेडियम के सुदृढ़ीकरण, उच्चीकरण एवं अन्य आवश्यकताओं पर होने वाले व्यय का आगणन तैयार कर 10 अक्टूबर तक शासन को भेजना सुनिश्चित करें। उन्होंने स्टेडियम के आय बढ़ाने के लिए अधिक से अधिक खिलाड़ियों का पंजीकरण करने पर भी जोर दिया। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि खेल हेतु लिये जा रहे शुल्क एवं प्राविधानित बजट से खेल विभाग एवं खेल संघों के सहयोग से जनपदों में अधिक से अधिक खेल कार्यक्रमों का आयोजन किया जाय, इससे जहाॅं खेल का माहौल बनेगा वहीं नौनिहालों एवं उदीयमान खिलाड़ियों में खेल के प्रति रुझान व आकार्षण बढ़ेगा। इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त पीएन वर्मा, अपर निदेशक स्वास्थ्य डा. एनएल यादव, क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आरपी सिंह, संयुक्त शिक्षा निदेशक एपी वर्मा, एडी बेसिक राजेश आर्य, उप निदेशक पंचायत राम जियावन, अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई आनन्द कुमा आनन्द, जिला युवा कल्याण अधिकारी राजनेत सिंह, डिप्टी स्पोस्र्ट्स आफीसर राज नरायन सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment