.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़: कोरोना को मात दे सेवा में जुटीं सीमा को डीएम से मिली शाबासी

लोगों की देखभाल करते हुईं पॉजिटिव, ठीक होते ही शामिल हुईं वीएचएसएनडी सत्र में

गृह भ्रमण कर ई-संजीवनी एप और परिवार नियोजन के लिए कर रहीं जागरूक

आजमगढ़ 19 सितम्बर-- जिलाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि बिलरियागंज ब्लाक के भीकपट्टी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर की सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी (सीएचओ) सीमा राय जो कोरोना पॉजिटिव होने पर स्वस्थ होने के बाद जैसे ही अस्पताल से छुट्टी मिली और होम कोरेंटाइन की अवधि पूरी की, उसके उपरान्त तुरंत ही फिर से लोगों की देखभाल में लग गईं। जिलाधिकारी ने कहा कि उनकी कर्तव्य परायणता प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि सीमा की तरह यदि हर कोई अपनी जिम्मेदारियों को लेकर सक्रिय रहे तो बड़ा से बड़ा लक्ष्य भी आसानी से पाया जा सकता है।भीकपट्टी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर 08 गांवों की लगभग 15,000 की आबादी का स्वास्थ्य सुधारने की जिम्मेदारी है। यहां की सीएचओ सीमा राय इस सेंटर पर मरीजों को देखतीं हैं तथा स्वास्थ्य सुविधाएं घर-घर पहुंचाने के लिए आठों गांवों में घर-घर आती-जाती रहती हैं। काम के दौरान ही उनकी तबीयत खराब रहने लगी। उन्हें बुखार था और शरीर में काफी दर्द था। 02 सितंबर को उन्होंने कोल्हूखोर ब्लाक में एंटीजन किट्स टेस्ट कराया तो उन्हें कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला। 02 को ही वहीं से एम्बुलेंस से उन्हें एल-1 स्तर के चंडेश्वर डेंटल कालेज में इलाज के लिए भेजा गया। एक सप्ताह वहां रहने के बाद नौ सितंबर को वहां से डिस्चार्ज हुईं और 09 सितम्बर से 15 सितंबर तक होम कोरेंटाइन रहीं। होम कोरेंटाइन की अवधि पूरी हुई तो भीकपट्टी के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर ओपीडी में छह मरीजों को देखा और उसके बाद क्षेत्र फरीदपुर गांव में ग्रामीण स्वास्थ्य, स्वच्छता एंड पोषण दिवस (वीएचएसएनडी) सत्र में शामिल होने पहुंच गईं। यह पूछने पर कि अभी आप अस्वस्थ थीं और स्वस्थ्य होते ही तुरंत सेंटर पर पहुंच गईं तो वह कहती हैं कि मुझे ई-संजीवनी एप का उपयोग घर-घर तक करवाना है, इसलिए केंद्र पर जल्दी पहुंचना चाहती थी। लंबे समय तक लोगों से दूर रहूंगी तो उनको स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों के निस्तारण में असुविधा होगी। इसके अलावा परिवार नियोजन के संसाधन और जानकारियां अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचानी थी। इसलिए जल्द से जल्द काम पर वापस आना चाहती थी। कोविड चैम्पियन के नोडल अधिकारी एवं जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी डॉ0 ओमजी श्रीवास्तव ने बताया है कि सीमा राय हम सभी के लिए उदाहरण हैं। करोना की चुनौती का उन्होंने बहादुरी से सामना किया और स्वस्थ्य होते ही वह अपने कर्तव्य पालन में लग गईं, वह सभी के लिए अनुकरणीय हैं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment