.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आज़मगढ़-वाराणसी मार्ग देखने पंहुचे कमिश्नर, अधिकारियों की लगी क्लास

सड़कों पर जल जमाव, दलदल एवं गड्ढों को देख भड़के, एक दूसरे पर टालते रहे लोनिवि और एनएचएआई के अधिकारी, मिला अल्टीमेटम

यदि सड़क की दयनीय स्थिति के कारण कुछ हुआ तो सम्बन्धित अधिकारी के विरुद्ध दर्ज होगा मुकदमाः मण्डलायुक्त

आज़मगढ़ 17 अगस्त -- आम नागरिकों, जन प्रतिनिधियों, मीडिया प्रतिनिधियों आदि के माध्यम से आज़मगढ़-वाराणसी मार्ग की दयनीय स्थिति की लगातार मिल रही शिकायतों के प्रति संवेदनशीलता दिखाते हुए मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने सोमवार को उक्त मार्ग पर सेमरहाॅं, कोटिला, मुहम्मदपुर एवं बिन्द्राबाजार में सड़कों का मौके पर औचक निरीक्षण किया। इस दौरान सड़कों पर जगह-जगह भारी जल जमाव, कीचड़, दलदल एवं खतरनाक गड्ढों को देखकर उन्होंने लोक निर्माण विभाग एवं एनएचएआई के अधिकारियों पर सख्त नाराजगी व्यक्त किया। निरीक्षण के समय सड़कों की दयनीय स्थिति के बारे में पूछे जाने पर कतिपय स्थानों पर सड़क को लोनिवि की होना बताया गया जबकि लोक निर्माण विभाग ने एनएचएआई की सड़क बताया। यह भी बताया कि यह विषम परिस्थति विगत तीन वर्षों से बनी हुई है। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने इस स्थिति पर घोर असन्तोष व्यक्त करते हुए दोनों विभागों के अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि तत्काल बैठक कर तय कर लें कि सड़कों के निर्माण एवं मरम्मत की जिम्मेदारी किस विभाग की है। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा यदि सड़क से सम्बन्धित वास्तविक विभाग का स्थानीय स्तर पर निर्धारण नहीं हो पाता है तो दोनों विभाग के जिम्मेदार अधिकारी अपने अधिकार क्षेत्र में न होने एवं अन्य विभाग के होने के कारणों का स्पष्ट उल्लेख करते हुए लिखित रूप से अपना मंतव्य प्रस्तुत करें, ताकि उच्च स्तर से उसकी संस्तुति कराई जा सके। इसके साथ ही उन्होने आगाह किया कि उच्च स्तर से संस्तुति के बाद जिम्मेदारियों से भागने वाले अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही अनिवार्य रूप से होगी।
मण्डलायुक्त विजय विश्वास पन्त ने सर्वप्रथम सेमरहाॅं में गोरखपुर-वाराणसी लिंक मार्ग पर बने अण्डरपास में भारी जल जमाव पाया एवं अण्डरपास के दूसरी ओर सड़क से बह रहे पानी को देखा जहाॅ नीचे गड्ढे होने के कारण दोपहिया, चार पहिया, साईकिल आदि के माध्यम से आने जाने वाले लोग काफी डिस्बैलेन्सिंग दिखे। इसपर उन्होंने लोक निर्माण विभाग के अधिशासी अभियन्ता से सड़क की ऐसी दयनीय स्थिति के बारे में पूछा तो बताया गया कि यह एनएचएआई की सड़क है, जबकि परियोजना निदेशक एनएचएआई का कहना था कि यह लोनिवि की सड़क है, यही स्थिति कोटिला बाईपास एवं मुहम्मदपुर में भी बताई गयी। इस पर मण्डलायुक्त ने कहा जिस विभाग को कार्य कराना है बैठक कर तय कर लें। इसके साथ ही उन्होनंे दोनों विभागों के अधिकारियों को सचेत किया कि यदि सड़कों की दयनीय स्थिति के कारण कोई अनहोनी होती है तो निश्चित रूप से सम्बन्धित अधिकारी के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जायेगा। मुहम्मदपुर एवं बिन्द्राबाजार में सड़क की हालत बद से बदतर पाये जाने पर उन्होंने मौके पर ही दोनों विभागों के अधिकारियों की क्लास लगाई। उन्होंने कहा कि लोक निर्माण विभाग एवं एनएचएआई के कार्यों की साप्ताहिक रूप से समीक्षा की जायेगी। उन्होंने निर्देश दिया कि दोनों विभाग अपनी अपनी सड़कों के निर्माण एवं मरम्मत आदि के जो भी कार्य करायें, प्रति सप्ताह उसकी प्रगति से अवगत करायें। मण्डलायुक्त श्री पन्त ने यह भी निर्देशित किया कि निर्माण कार्यो की प्रगति के साथ ही सीमेन्ट, सरिया, मोरंग, गिट्टी आदि मैटेरियल की मात्र एवं उसपर व्यय धनराशि, कान्ट्रैक्टर को भुगतान आदि का भी सम्पूर्ण विवरण अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराना होगा। उन्होंने कहा कि जिन सड़कों के लिए बजट उपलब्ध है वहाॅं तत्परता से कार्य कराया जाय। श्री पन्त ने यह भी निर्देश दिया कि 25 अगस्त को निमार्ण कार्यों की बैठक में अपने अपने विभाग से सम्बन्धित कार्यों के पूर्ण विवरण के साथ उपस्थित हों। उन्होंने बिन्द्राबाजार की सड़क जो एनएचएआई की है, की दयनीय स्थिति के बारे पूछा जिस पर सम्बन्धित परियोजना प्रबन्धक द्वारा मरम्मत कार्य कराये जाने के सम्बन्ध में दिये गये तर्कों पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि यदि बजट की कमी है तो उसकी डिमाण्ड करें। इस दौरान जल निकासी में कतिपय अपराधी पवृत्ति के लोगों द्वारा अवरोध उत्पन्न कराये जाने को संज्ञान में लेते हुए मण्डलायुक्त ने मौके पर उपस्थित उपजिलाधिकारी मेंहनगर को निर्देशित किया कि आवश्यकतानुसार सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सदर गौरव कुमार, उपजिलाधिकारी निजामाबाद राजीव रत्न सिंह, उपजिलाधिकारी मेंहनगर प्रियंका प्रियदर्शिनी, अधिशासी अभियन्ता लोनिवि निर्माण खण्ड-5 विजय सिंह, परियोजना निदेशक एनएचएआई एसबी सिंह, अवर अभियन्ता, लोनिवि मुकेश कुमार झा, प्रबन्धक एनएचएआई सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment