.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

लॉकडाउन पूरी तरह लागू करने को डीएम ने की इमरजेंसी मीटिंग,जारी हुआ कन्ट्रोलरूम नंबर

अपरिहार्य परिस्थितियों को छोड़कर आमजन घर में ही रहें,विदेश से आये सामान्य लोग भी स्वयं 14 होम क्वारंटाइन में रहे 

सामान्य मरीजों को अस्पताल पंहुचाएंगी और  102/108 की एम्बुलेंस,  पुलिस की 112  गाड़ियां भी करेंगी मदद  

आजमगढ़ 23 मार्च-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु जनपद में लाकडाउन लागू किये जाने के सम्बंध में एक आपात बैठक का आयोजन किया गया।
जिलाधिकारी ने कहा कि मा0 मुख्यमंत्री, उ0प्र0 सरकार द्वारा वीडियो कान्फ्रेंस में प्रदत्त निर्देशानुसार शहरी क्षेत्र के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में भी चैपालों के सेनिटाइज कराया जाय। कहीं पर भी कूड़ा, गन्दगी न हो। सफाई सुनिश्चित करायी जाय। ग्राम आपदा समिति जिसमें ग्राम प्रधान अध्यक्ष, लेखपाल सचिव, ग्राम पंचायत अधिकारी सह सचिव तथा कोटेदार, आशा/आंगनवाड़ी कार्यकत्री, ए0एन0एम0 सदस्य हैं, को क्रियाशील करते हुये इन्हें कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम हेतु ग्रामवासियों को जागरूक करने की जिम्मेदारी दी जाय तथा इनके माध्यम से अपरिहार्य परिस्थितियों को छोड़कर आमजन का घर में ही रहना सुनिश्चित कराया जाय। इस आपदा की स्थिति में कार्यरत समस्त कार्मिकों को मास्क, साबुन, सेनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाय। जो कार्मिक साफ-सफाई के कार्य में लगे हों, उन्हें उनके स्वयं की सुरक्षा हेतु जागरूक करते हुये मास्क, साबुन/सेनिटाइजर उपलब्ध कराया जाय।
जिलाधिकारी द्वारा मास्क की उपलब्धता न होने पर कपड़े का मास्क सिलवाने का सुझाव दिया गया। सभी कोटेदारों के यहाँ कारोना की रोकथाम हेतु शासन तथा स्थानीय स्तर से समय-समय पर जारी गाइडलाइन्स का अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय तथा सेनिटाइजेशन हेतु साबुन/सेनिटाइजर की उपलब्धता सुनिश्चित करायी जाय। खाद्यान्न वितरण हेतु 10-10 लोगों के ग्रुप में पात्र लाभार्थियों को बुलाकर खाद्यान्न वितरण सुनिश्चित किया जाय। इस कार्य में भीड़ इकट्ठी न की जाय। इस कार्यालय द्वारा जनपद में लाकडाउन को प्रभावी बनाये जाने हेतु सेक्टर/जोनल व्यवस्था लागू करते हुये मजिस्ट्रेटगण की तैनाती की गयी है।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये कि समस्त तैनात मजिस्ट्रेटगण अपने तैनाती क्षेत्र के थाने/क्षेत्राधिकारी कार्यालय की सहायता से सभी बाजार बंद करवाना सुनिश्चित करेंगे। ग्रामीण क्षेत्रों में प्रत्येक गाँव में ग्राम आपदा समिति ऐसे व्यक्तियों की सूची तैयार करें, जिन्होने 29 जनवरी 2020 के बाद कोरोना से संक्रमित देशों की यात्रा की हो अथवा कोरोनाग्रस्त देशों से वापस अपने घर आये हों। प्रथम दृष्टया ऐसे व्यक्तियों के लक्षणों से किसी प्रकार के फ्लू से संक्रमित होने की सूचना तत्काल सम्बंधित खण्ड विकास अधिकारी/उप जिला मजिस्ट्रेट/मुख चिकित्साधिकारी को दी जाय तथा उन्हें तत्काल क्वारंटाइन किया जाय। ऐसे संदिग्ध मामलों के निमित्त मेडिकल कालेज, चक्रपानपुर, जिला चिकित्सालय आजमगढ़ तथा 100 शैय्या अस्पताल अतरौलिया में 34 क्वारंटाइन बेड की उपलब्धता सुनिश्चित की गयी है। ऐसे व्यक्तियों द्वारा आदेश की अवहेलना करने पर सख्ती करते हुये भा0द0वि0 की धारा 188 में प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करायी जाय। ऐसे सामान्य लक्षण वाले व्यक्तियों को घर में ही 14 दिनों तक रूकने (Home Quarantine) की सलाह दी जाय। अनुपालन न करने पर आवश्यक निरोधात्मक कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाय। ऐसे प्रकरणों में संदिग्ध व्यक्ति के घर के आस-पास तथा सम्बंधित ग्राम के सभी प्रमुख स्थानों यथा चैपालों, बाजारों में ब्लीचींग पाउडर के घोल से सेनिटाइजेशन कराया जाय।
उन्होने कहा कि वर्तमान समय में बंदी प्रभावी होने के कारण सभी प्रभारी चिकित्साधिकारियों के बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के वाहन इस समय स्पेयर हैं, साथ ही 102/108 की एम्बुलेंस भी उपलब्ध हैं। उन्हें विदेश से आये ऐसे व्यक्तियों, जिनके लक्षणों से किसी प्रकार के फ्लू से संक्रमित होने की सूचना प्राप्त हो तो उन्हें क्वारंटाइन किये जाने हेतु ट्रांसपोर्टेशन में उपयोग करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि खण्ड विकास अधिकारियों तथा पशु चिकित्साधिकारियों के वाहनों का प्रयोग विकास खण्ड आपदा समिति द्वारा किये जाने हेतु अधीग्रहीत करा ली जायें। अपरिहार्य परिस्थिति में सदि बजट की उपलब्धता हो तो आवश्यकतानुसार सहायक विकास अधिकारियों को ट्रांसपोर्ट सुविधा उपलब्ध करायी जाय। मनरेगा के जाब कार्डधारक, श्रम विभाग के पंजीकृत श्रमिक, दिहाड़ी मजदूर जो कि लाभर्थीपरक योजना से लाभान्वित होने से वंचित रह गये हों, उनकी सूची बना ली जाय। ऐसे व्यक्तियों को फ्री अनाज व रू0 1000 मात्र से लाभान्वित किये जाने की योजना है। श्रम विभाग में पंजीकृत श्रमिकों का नवीनीकरण करा लिया जाय तथा उनके बैंक खाते का विवरण प्राप्त कर लिया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि मुख्य विकास अधिकारी स्वयं इसके लिये समन्वय करें।
जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व से जारी शासनादेश के अनुसार वर्तमान में आपातकालीन स्थिति के दृष्टिगत प्रत्येक ग्राम हेतु रू0 5000 सुरक्षित रखे जायें। जिलाधिकारी ने जिला आपदा निधि से 1000 मास्क सिलवाने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने बताया कि कोरोना वायरस से संबंधित सूचना देने के लिए कलेक्ट्रेट भवन आजमगढ़ में कन्ट्रोल रूम की स्थापना की गयी है, जिसका नम्बर- 9454417172 व 05462 246831 है।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 एके मिश्रा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन नरेन्द्र सिंह, अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 गुरू प्रसाद, समस्त उप जिला मजिस्ट्रेट, परियोजना निदेशक अभिमन्यु सिंह, डीसी एनआरएलएम बीके मोहन, डीसी मनरेगा बीबी सिंह, जिला विकास अधिकारी रवि शंकर राय, जिला पूर्ति अधिकारी देवमणि मिश्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी राजेश कुमार यादव, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी साहित्य निकष सिंह, जिला प्रोबेशन अधिकारी बीएल यादव, डीपीआरओ श्रीकान्त दर्वे, समस्त खण्ड विकास अधिकारी, समस्त सहायक विकास अधिकारी (पंचायत), अभिहित अधिकारी, खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment