.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ :प्रशासन हुआ सख्त,कटने लगे चालान तो पता लगा क्या होता है 'लॉक डाउन'


डीआइजी , डीएम और एसपी खुद सडकों पर निकले और लोगों को समझाया,निजी वाहन से तफरी कर रहे लोगों का कटा चालान 

जरूरी सामान नजदीक की दुकानों से ही लें, पैदल एवं अकेले जायें, किसी भी वाहन का उपयोग न करें- डीएम 

आजमगढ़ : मुख्यमंत्री की घोषणा के बावजूद शहर में लॉक डाउन सोमवार सुबह से ही बेपटरी होने लगा। सडकों पर लगातार फर्राटा भर रहे वाहनों को देख जागरूक लोग सकते आ गये। सवाल उठने लगे तो प्रशासन सक्रिय हुआ। डीआइजी सुभाष चंद्र दुबे, जिलाधिकारी एन पी सिंह और एसपी प्रो0 त्रिवेणी सिंह खुद सडकों पर निकले और हालात की जांच किया । अधिकारियों ने लोगों को रोक कर पूछ्ताछ किया साथ ही लॉक डाउन का मतलब समझाया। दरअसल, सुबह से ही कई जनपदों से सवारी बसों की आवाजाही बदस्तूर तो थी शहर के बाजारों में भी दो व चारपहिया वाहनों से लोग घूमते दिखे तो प्रशासन की नींद उड़ी थी। दोपहर बाद पुलिस प्रशासन सडकों पर उतरा और फिर निजी वाहनों से चल रहे लोगों का चालान होने लगा , तब जा कर एक बार फिर से सडकों पर सन्नाटा हुआ। डीआइजी ने कहा कि आजमगढ़ में लॉक डाउन का शत-प्रतिशत अनुपालन कराया जाएगा।
जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह व पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह द्वारा शहर एवं विभिन्न स्थानों का निरीक्षण किया गया। इस अवसर पर घरों से बाहर निकले लोगों से व्यक्तिगत रूप से मिलकर समझाया गया कि वे घरों से बाहर न निकलें। उन्होने लोगों से यह भी कहा कि आवश्यकता की चीजों में दवायें अपने नजदीकी मेडिकल स्टोर से लें, सब्जी/खाद्य सामग्री या अन्य कोई आवश्यक सामग्री जो काफी आवश्यक हो, उसे भी अपने नजदीक की दुकानों से ही लें, पैदल एवं अकेले जायें, किसी भी वाहन का उपयोग न करें। एसपी प्रो. त्रिवेणी सिंह जिले की सीमाओं को बैरियर लगाकर सील करने का आदेश दिया। थान प्रभारियों ने अपने अपने क्षेत्रों के जिले के बार्डरों को बैरियर लगाकर आवाजाही पर ब्रेक लगा दिया। पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए निजी वाहन चालकों एवं तफरी करने वालों को घरों को लौटाया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment