.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

प्रियंका गांधी के आजमगढ़ दौरे से ठीक पहले समाजवादी पार्टी कांग्रेस आमने-सामने

कांग्रेस ने मुसलमानों का सबसे ज्यादा नुकसान किया-  नफीस अहमद, सपा विधायक

आजमगढ़. : नागरिकता कानून और एनआरसी के विरोध में अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ में धरने पर बैठी महिलाओं पर पुलिस की कार्रवाई के बाद बने माहौल का फायदा उठाने को लेकर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी आमने-सामने हैं। सपा का गढ़ होने के बावजूद जिस तरह से कांग्रेस ने इस मुद्दे को लेकर पहल की है और न सिर्फ फ्रंट फुट पर खेल रही है बल्कि सपा और अखिलेश यादव को भी घेर रही है उसके बाद दोनों पार्टियों में तकरार बढ़ती जा रही है। प्रियंका गांधी के आजमगढ़ दौरे के ऐलान के बाद समाजवादी पार्टी कांग्रेस पर जैसे टूट पड़ी है।
कांग्रेस शुरू से नागरिकता कानून के विरोध में खुद को आगे रखने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। यही वजह है कि सपा-बसपा जैसी पार्टियां जब तक इसको लेकर रणनीति बनाने में लगी थीं तो कांग्रेस उनसे कहीं आगे बढ़कर इसका विरोध कर रही थी। उत्तर प्रदेश में सीएए के प्रदर्शनकारियों पर कार्रवाई के बद प्रियंका गांधी उनके परिवारों से भी मिलीं।
इधर आजमगढ़ में भी बीते दिन जौहर अली पार्क में भी शाहीन बाग की तर्ज पर महिलाएं धरने पर बैठ गयीं। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए उन्हें वहां से हटाया। पर सपा का गढ़ होने के बावजूद कार्रवाई के खिलाफ खड़ होने में सपा ने जैसे ही देर की कांग्रेस ने इसे लपक लिया। अखिलेश यादव पर चुुुप रह कर महज एक ट्वीट करने का आरोप लगा कांग्रेसियों ने सांसद के लापता होने के पोस्टर तक लगा दिये। इसका जवाब देने के लिये सपा ने अपने विधायकों को मैदान में उतारा तो अब प्रियंका गांधी बुधवार को खुद पुलिस कार्रवाई की शिकार महिलाओं से मिलने आजमगढ़ पहुंच रही हैं।
उनके दौरे से पहले सपा ने मोर्चा संभालते हुए कांग्रेस पर हमले शुरू कर दिये हैं। सपा विधायक नफीस अहमद ने कहा है कि कांग्रेस ने मुसलमानों का सबसे ज्यादा नुकसान किया। कांग्रेस बताये कि आज किसकी वजह से देश और प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनी है। आपकी जो गलत नीतियां थी और जो भ्रष्टाचार था उससे उबकर देश की जनता ने बीजेपी के हाथों में सत्ता सौंपी। भारत में सबसे ज्यादा राज कांग्रेस ने किया और उनकी सरकार के दौरान सबसे अधिक उत्पीड़न मुसलमानों को किया गया। आज मुसलमान अगर नौकरी में केवल आठ प्रतिशत है तो उसकी जिम्मेदार कांग्रेस है। कांग्रेस सरकार के दौरान तमाम ऐसे कार्य हुए जिससे अल्पसंख्यकों को नुकसान पहुंचा और आज वही लोग अखिलेश यादव पर सवाल उठा रहे हैं। अखिलेश यादव और सपा ने पहले दिन से ही यह कहा हम काले कानून का विरोध करेगे। अखिलेश जी ने साफ कहा है कि यदि एनपीआर लाया गया तो हमें एनपीआर का फार्म खुद नहीं भरेंगे। देखना यह होगा कांग्रेस इस मुद्दे के जरिये जिस तरह सपा को उसी के गढ़ में पछाड़ने की कवायद में जुटी है, उसका मुकाबला समाजवादी पार्टी कैसे करती है।


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment