.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : प्रशासन की कड़ी निगरानी में सम्पन्न हुई टीईटी परीक्षा


जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह, एसपी प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह परीक्षा केंद्रों पर भ्रमणशील रहे

जिले में कुल 49,628 परीक्षार्थियों ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2019 में भाग लिया 

आजमगढ़ : जिले में बुधवार को कुल 49,628 परीक्षार्थियों ने उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा-2019 (यूपी टीईटी) की परीक्षा दी। प्रथम पाली में 74 केंद्रों पर 34 हजार 494 छात्र व द्वितीय पाली में 37 केंद्रों पर कुल 15134 परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। प्रथम पाली में 2416 तो द्वितीय पाली में 3520 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। गेट पर तलाशी के बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया। प्रमाणपत्र न होने पर कई परीक्षार्थी रोके गए। सुरक्षा व्यवस्था व परीक्षा की व्यवस्था का जिलाधिकारी नागेंद्र प्रसाद सिंह, एसपी प्रोफेसर त्रिवेणी सिंह परीक्षा केंद्रों पर भ्रमणशील रहे। टीईटी परीक्षा को लेकर तैयारियां पहले से ही पूरी कर ली गई थी। जिले में कुल 49,628 परीक्षार्थी टीईटी की परीक्षा में शामिल हुए। प्रथम पाली (प्राथमिक स्तर) सुबह 10 बजे से 12. 30 बजे तक होनी थी। इसके लिए परीक्षार्थी सुबह साढ़े नौ बजे ही परीक्षा केंद्रों पर पहुंच गए। गेटों पर लाइन लगाने के बाद ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया गया। परीक्षा केंद्रों पर पुलिस फोर्स के साथ ही सीसीटीवी कैमरे भी लगाए गए थे। इसके लिए अलावा वाइस रिकार्डर भी लगाया गया। द्वितीय पाली में (उच्च प्राथमिक स्तर) अपराह्न 2.30 बजे से शाम बजे तक हुई। दोनों पालियों में कुल 3,520 छात्र अनुपस्थित रहे। दर्जनों परीक्षार्थी परीक्षा देने से वंचित रह गए। मुबारकपुर के अमिलो रसूलपुर मोहल्ला निवासी शहजाना यसमीन के पास प्रमाण पत्र होने के बाद भी ड्यूटी पर लगे कर्मचारी ने प्रवेश नहीं करने दिया। इससे उन्हें निराश होकर वापस लौटना पड़ा। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment