.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: दिल्ली का शाहीन बाग नहीं यह आजमगढ़ का कर्बला मैदान है !



सीएए के विरोध में संयुक्त विपक्ष द्वारा आयोजित प्रदर्शन में उमड़ी भारी भीड़,महिलाओं और छात्राओं ने बढ़ चढ़ की भागीदारी  

सीएए में मुसलमानों को छोड़ने की बात कहकर सरकार ने खुद को छोटा साबित किया है-  शाह आलम , विधायक 

आजमगढ़ : मंगलवार को सीएए के विरोध में शहर के कर्बला मैदान में संयुक्त विपक्ष द्वारा आयोजित धरना प्रदर्शन हुआ जिसमें भारी भीड़ उमड़ पड़ी । हाथों में तिरंगा लिए सीएए, एनपीआर, एनआरसी के विरोध में स्लोगन लिखी तख्तियां लिए हजारों लोग पहुंचे। ख़ास बात यह रही की इस धरना प्रदर्शन में महिलाओं और छात्राओं की बहुत भारी संख्या में हुई भागेदारी ने दिल्ली के शाहीन बाग़ में चल रहे आंदोलन की याद दिला दिया। सभी ने सीएए और एनआरसी का विरोध करते हुए एक स्वर से एलान किया कि यह कानून किसी कीमत पर स्वीकार नहीं करेंगे। कहा की हम गांधीवादी तरीके से शांतिपूर्ण आंदोलन करके सरकार को इन कानूनों को वापस लेने को मजबूर कर देंगे। विभिन्न विपक्षी दलों द्वारा बनाये गए संविधान बचाओं मंच की रैली में सुबह से ही प्रदर्शनकारी हाथों में तिरंगा था और सीएए और वह एनआरसी का विरोध जताते हुए कर्बला मैदान की तरफ कूच कर दिए थे। इस दौरान कुछ खास इलाकों में दर्जनों दुकानें बंद रहीं।
प्रदर्शन के दौरान सपा, बसपा, उलेमा कौंसिल , प्रसपा, पीस पार्टी समेत कई राजनीतिक दलों के लोगों के साथ ही महिलाओं की भारी तादाद भी रही। दोपहर बाद साढ़े तीन बजे एसडीएम सदर आशा राम को छह सूत्रीय मांगों का ज्ञापन सौंप विरोध प्रदर्शन को समाप्त किया गया। इससे पूर्व सुबह से दोपहर तक एनआरसी मुर्दाबाद, सीएए वापस लो इत्यादि नारे गूंजते रहे। वक्ताओं में सपा के सदर विधायक दुर्गा प्रसाद यादव ने कहा कि सरकार देश की मूलभूत समस्याओं से लोगों का ध्यान हटाने को नागरिकता संशोधन कानून लाई है। सपा विधायक संग्राम यादव ने कहा कि सरकार संविधान को तोड़ना चाहती है। बसपा विधायक शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली ने कहा कि सीएए में मुसलमानों को छोड़ने की बात कहकर सरकार ने खुद को छोटा किया है। उलेमा कौंसिल मौलाना ताहिर मदनी ने कहा कि यह संघर्ष तब तक चलता रहेगा जब तक सी0ए0ए0 व एन0पी0आर0 सरकार वापस नहीं ले लेगी। सपा विधायक नफीस अहमद ने कहा कि धर्म-जाति को बांटने वाला कानून नहीं बनाया जा सकता, सरकार की भलाई इसी में है कि कानून को वापस ले। सपा के निवर्तमान जिलाध्यक्ष हवलदार यादव ने कहा कि पिछड़ों एवं दलितों को उनके अधिकार से वंचित करने की सरकार साजिश रच रही है। इससे पूर्व सुबह से जिले के विभिन्न क्षेत्रों से विरोध जताने के लिए लोगों का पहुंचना शुरू हुआ, जो दोपहर बाद तक चला। प्रसपा के रामदर्शन यादव, मौलाना सुल्तान, शौकत माहुली, जामा मस्जिद के इमाम इंतेखाब आलम, डा. जावेद, जयप्रकाश नारायण, जुगनू, ताहिर मदनी, सोफिया बानो, मिर्जा शाने आलम बेग, लालबहादुर त्यागी, अनिल सिंह आदि ने संबोधित किया। अध्यक्षता रविद नाथ राय व संचालन तलहा राशादी व असद ने किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment