.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मेंहनगर : मण्डलायुक्त ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में 43 प्रकरणों में से निस्तारित किये 9 मामले

अनुपस्थित 4 अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश

मण्डलायुक्त ने अस्थायी गोवंश आश्रय स्थलों और प्राथमिक विद्यालय लोहानपुर का भी औचक निरीक्षण किया 

आज़मगढ़ -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी कनक त्रिपाठी ने मंगलवार को मेंहनगर तहसील में आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस के अवसर पर आम जन से उनकी समस्याओं को काफी गंभीरतापूर्वक सुना तथा मौके पर 9 मामलों का निस्तरण भी किया। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी की अध्यक्षता में आयोजित उक्त सम्पूर्ण समाधान दिवस के दौरान सहायक अभियन्ता लघु सिंचाई मेंहनगर, सहायक विकास अधिकारी पंचायत, सहायक विकास अधिकारी समाज कल्याण तथा सहायक विकास अधिकारी सहाकारिता, के अनुपस्थित रहने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त करते हुए इन सभी 4 अधिकारियों का एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। मण्डलायुक्त द्वारा आमजन से उनकी समस्याओं की सुनवाई के दौरान कुल 43 मामले आय,े जिसमें राजस्व के 30, पुलिस के 9 तथा शेष अन्य विभागों से सम्बन्धित थे। मण्डलायुक्त ने उपस्थित फरियादियों से उनकी समस्याओं को सहानुभूतिपूर्वक सुनकर मौके पर ही 9 मामलों का निस्तारण किया। निस्तारित मामलों में राजस्व के 7 तथा पुलिस एवं विकास के 1-1 मामले सम्मिलित हैं। उन्होंने अनिस्तारित प्रकरणों को समयबद्ध रूप से निस्तारित करने का निर्देश देते हुए सम्बन्धित विभागों हस्तान्तरित कर दिया।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी के समक्ष ग्राम देवरिया निवासी बाबूलाल प्रजापति ने प्रार्थना पत्र देते हुए अवगत कराया गया कि गांव की आराजी नम्बर 573 जो चारागाह की भूमि है उस पर फर्जी ढंग से इन्द्राज कराकर कुछ लोगों ने कब्जा कर रखा है। इस सम्बन्ध में तहसीलदार द्वारा अवगत कराया गया कि मामले में एफआईआर दर्ज परन्तु कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। इसी प्रकार और मामले में यह तथ्य प्रकाश में आया कि सरकारी भूमि पर कब्जा करने वालों के विरुद्ध थाना मेंहनगर में एफआईआर दर्ज है परन्तु उसमें भी कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी ने इस स्थिति पर नाराजगी व्यक्त करते हुए थानाध्यक्ष मेंहनगर को निर्देशित किया कि सरकारी जमीन पर कब्जे से सम्बन्धित ऐसे जितने मामले हैं जिसमें एफआईआर दर्ज है परन्तु कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है और जिस थानाध्यक्ष के कार्यकाल में एफआईआर दर्ज हुई है उन सबका पूर्ण विवरण दो दिन में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इसी प्रकार ग्राम धानीपुर रानी निवासी बालचन्द द्वारा भी अवगत कराया गया कि उनके गांव में चारागाह की भूमि पर अवैध रूप से कब्जा किया गया है। इस प्रकार के कई अन्य मामले जिसमें सरकारी जमीन पर अतिक्रमण किया गया है, के सम्बन्ध में मण्डलायुक्त ने नाराजगी व्यक्त करते हुए निर्देशित किया ऐसे सभी मामलों को तत्काल मौके पर जाकर देख लें तथा यदि अवैध रूप से कब्जा किया गया है तो कब्जाधारकों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराते हुए सरकारी जमीन को कब्जामुक्त कराई जाय। एक शिकायतकर्ता द्वारा अवगत कराया गया कि पशुचर की जमीन का कई वर्ष पूर्व पट्टा कर दिया गया है। इसपर मण्डलायुक्त ने तहसीलदार को निर्देशित किया कि तत्काल मौके जायें यदि शिकायत सही है तो पट्टा निरस्त करते हुए पट्टा करने वाले तत्कालीन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध चार्जशीट भी निर्गत की जाय। इसी प्रकार ग्राम मियांपुर वासदेवा निवासी अरविन्द सिंह एवं राम निवास ने संयुक्त रूप से प्रार्थना पत्र देते हुए अवगत कराया कि एक व्यक्ति की खतौनी में रकबा काफी बढ़ा दिया गया है, जिससे कई गंभीर समस्यायें उत्पन्न हो गयी हैं। मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मण्डलायुक्त ने मौके पर ही सारे दस्तावेज मंगाकर देखा तथा प्रथम दृष्टया रकबा काफी बढ़ाकर अंकित होना पाया। इस मामले में भी उन्होंने तत्कालीन एसडीएम सहित प्रकरण से सम्बन्धित सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों के विरुद्ध चार्जशीट निर्गत करने का निर्देश दिया।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने सम्पूर्ण समाधान दिवस के उपरान्त नगर पंचायत मेंहनगर परिसर तथा सेर्रा गांव के सरस हाट परिसर में स्थापित अस्थायी गोवंश आश्रय स्थलों को भी देखा। नगर पंचायत परिसर के आश्रय स्थल पर कुल 5 पशु संरक्षित थे। सेर्रा गांव के गोवंश आश्रय स्थल में कुल 110 पशु संरक्षित थे, रखा रखाव तथा साफ सफाई काफी सुदृढ़ पाई गयी। उप मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. जेपी सिंह ने बताया कि ग्राम प्रधान राजेश चैहान द्वारा पशुओं के रख रखाव और देखभाल में सराहनी योगदान दे रहे हैं तथा इस आश्रय स्थल पर कुल 12 सफाई कर्मी तथा 2 पीआरडी जवान की ड्यूटी लगाई गयी। उन्होने यह भी बताया कि पशुओं का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण भी होता है। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी ने शिक्षा क्षेत्र मेंहनगर के अन्तर्गत प्राथमिक विद्यालय लोहानपुर का भी औचक निरीक्षण किया जहाॅं कक्षा 4 में पंजीकृत 31 बच्चों के सापेक्ष 13 बच्चे उपस्थित मिले। उन्होने उपस्थित बच्चों से 17 एवं 18 का पहाड़ा पूछा तो बारी बारी से दो बच्चों द्वारा सहज रूप से बता दिया गया। इस दौरान एक अनाथ बच्ची रीतू से कई सवाल पूछे जिसका काफी सहजतापूर्वक उत्तर दिया। उक्त बच्ची के साथ ही एक अन्य बच्चे ने भी अंगे्रजी कवितायें सुनाई। मण्डलायुक्त ने सहायक अध्यापिका वर्तिका राय के प्रयासों की भूरि भूरि प्रशंसा की। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानाध्यापक एवं सहायक अध्यापिका को अनुपस्थित छात्र छात्राओं के अभिभावकों से सम्पर्क कर स्कूल तक उन्होंने लाने हेतु निर्देशित भी किया।
इस अवसर पर संयुक्त विकास आयुक्त पीएन वर्मा, एडी बेसिक राजेश कुमार आर्य, संयुक्त कृषि निदेशक एसके सिंह, उप निदेशक पंचायत राम जियावन, तहसीलदार बृजेन्द्र उपाध्याय के अलावा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment