.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

अमेजन से मंगाई गई डिवाइस से तैयार कर लेते थे एटीएम कार्ड का क्लोन,04 जालसाज गिरफ्तार

अगर आप पेट्रोल पम्प और अन्य जगहों पर एटीएम कार्ड करते है इस्तेमाल तो जरूर पढ़िए ! 

इस गिरोह ने केवल आजमगढ़ में ही उड़ा दिए लोगों के लगभग 10 लाख रुपये 

आजमगढ़: पेट्रोल पंप और ग्राहक सेवा केंद्र संचालकों की मदद से आम धारकों का एटीएम कार्ड स्कीमर डिवाइस से स्वैप कर उनका क्लोन तैयार कर खातों से रुपये उड़ाने वाले गिरोह के चार जालसाज शुक्रवार को महराजगंज पुलिस की गिरफ्त में आ गए। इनके पास से कई एटीएम कार्ड और एक स्कीमर डिवाइस बरामद हुआ। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि यह लोग आजमगढ़ के अलावा मऊ, गोरखपुर, आंबेडकर नगर आदि जिलों के कई लोगों की मदद से अब तक कई लाख रुपये खातों से उड़ा चुके हैं। कई अन्य लोगों को नाम और पते की जानकारी हुई है जिनकी तलाश की जा रही है।
एसपी त्रिवेणी सिंह के मुताबिक गिरफ्तार आरोपियों में रामजीत यादव पुत्र सुभाष मऊ के मोहम्मदाबाद थाने के अनुपार गांव, रामपरवेश यादव पुत्र सुरेश जीयनपुर कोतवाली के मानिकपुर, सुभाष यादव पुत्र भृगुनाथ मुबारकपुर थाने के अबाड़ी गांव और रामप्रताप यादव पुत्र केशव मोहम्मदाबाद थाने के पुतुकपुर गांव का निवासी है। महराजगंज थाने के देवारा तुर्क चारा गांव निवासी बलिराम यादव ने 12 दिसंबर को थाने में धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बलिराम ने बताया कि किसी ने उनके एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर खाते से 85 हजार रुपये निकाल लिया है। यह रुपये 11 नवंबर से 13 नवंबर के बीच निकाला गया है। केस दर्ज कर पुलिस जांच में जुटी। साइबर सेल की मदद से इस गिरोह के लोगों की संलिप्तता पाए जाने पर इन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि यह लोग पेट्रोल पंप और ग्राहक सेवा केंद्र के संचालक के यहां अपना छोटा सा एटीएम स्कीमर डिवाइस रख देते थे। जो भी ग्राहक पेट्रोल पंप पर अपने एटीएम कार्ड के जरिये तेल भराकर रुपये चुकाता था। उस कार्ड को पंप का सेल्समैन इनके स्कीमर डीवाईस से स्वैप कर देता था। यही काम ग्राहक सेवा केंद्र संचालक भी करते थे। बाद में आरोपी उससे अपना स्कीमर डिवाइस लेकर पूरा डेटा राइटर में लेकर उसके कार्ड की कोलिंग कर दूसरा कार्ड बनाकर रुपये निकाल लेते थे। एसपी के मुताबिक केवल आजमगढ़ जिले में इस गिरोह ने कई लोगों के खाते से 11 लाख रुपये निकाल चुके हैं। अन्य जिलों का रिकार्ड खंगाला जा रहा है।
झारखंड के युवक ने मुंबई में दी थी ट्रेनिंगएसपी त्रिवेणी सिंह के मुताबिक आरोपियों ने बताया कि इन्हें झारखंड के एक युवक ने मुंबई में ट्रेनिंग दी थी। अब तक इनके द्वारा कई लोगों के एटीएम कार्ड को एटीएम स्कीमर डीवाईस के जरिए क्लोनिंग कर उनके खाते से रुपये उड़ा चुके हैं।
अमेजन से मंगाए थे स्किमर डिवाइसपूछताछ के दौरान आरोपियों ने पुलिस को बताया कि एटीएम स्कीमर डिवाइस को आनलाइन अमेजन कंपनी के जरिये मंगाया था। पूरा सामान मंगाने में करीब 35 हजार रुपये के आसपास खर्च हुआ था। इसमें स्कीमर डिवाइस के अलावा राइटर भी शामिल है। पूरी व्यवस्था करने के बाद किसी भी एटीएम कार्ड का क्लोन तैयार कर लिया जाता है।
आमजन से अपीलएसपी त्रिवेणी सिंह ने आमजन से अपील की है कि इस तरह की ठगी का काम जोरों पर चल रहा है। ऐसे में ग्राहकों की जागरूकता ही बचाव का तरीका है। ग्राहक जब भी किसी से क्रेडिट या डेबिट कार्ड से पेमेंट करते हैं, उस समय ध्यान रखे कि उनका कार्ड सिर्फ एक बार ही इस्तेमाल हो। जैसे ही दुकानदार किसी दूसरे इलेक्ट्रानिक मशीन से स्वैप करता है तो तत्काल उसके खिलाफ शिकायत करें। इससे आप ठगी से बचेंगे

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment