.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़: राज्य मंत्री द्वारा आवासीय विद्यालयों के निरीक्षण में खुली व्यवस्था की पोल


उद्यमिता विकास संस्थान लखनऊ के प्रबंधक पर एफआईआर दर्ज करा जेल भेजना सुनिश्चित हो - रघुराज सिंह, राज्यमंत्री 

निरीक्षण मे कई स्टाफ मिल अनुपस्थित,सारी व्यवस्था मिली ध्वस्त, सुधार के निर्देश

आजमगढ़। राज्यमंत्री रघुराज सिंह द्वारा विहान बालक आवासीय विद्यालय (निर्माण श्रमिक) लक्षिरामपुर का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि 100 बच्चों के नामांकन के सापेक्ष 14 बच्चे उपस्थित पाये गये तथा स्टाफों की संख्या 14 के सापेक्ष 09 उपस्थित पाये गये। निरीक्षण दौरान राज्यमंत्री द्वारा प्रत्येक कक्षाओं तथा रसोई घर आदि का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण में पाया गया कि कमरे की साफ-सफाई नही थी, रजाई, गद्दा, बेडसीट फटी हुई पायी गयी, छात्रों को मेनू के अनुसार भोजन नही दिया जा रहा है, बच्चों के तख्त टूटे पाये गये, पीने के पानी की व्यवस्था नही है, बच्चों को अभी तक ड्रेस नही उपलब्ध कराया गया है, दवायें तथा किताबें भी उपलब्ध नही थी। कई छात्र चर्म रोग से पीड़ित पाये गये। जिस पर राज्य मंत्री भडक उठें और कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएलसी को सख्त निर्देशित करते हुए कहा कि तत्काल उद्यमिता विकास संस्थान लखनऊ के प्रबंधक पर एफआईआर दर्ज कराकर जेल भेजने का कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। इसी के साथ ही साथ विद्यालय की देख-रेख आपके स्तर से की जायेगी।
इसी के साथ ही मंत्री द्वारा विहान बालिका आवासीय विद्यालय (निर्माण श्रमिक) हीरापट्टी आजमगढ़ का औचक निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि 100 छात्राओं के नामांकन के सापेक्ष 44 छात्रायें तथा 14 स्टाफ के सापेक्ष 12 स्टाफ उपस्थित पाये गये।
निरीक्षण दौरान मंत्री द्वारा प्रत्येक कक्षाओं तथा रसोई घर आदि का निरीक्षण किया गया, निरीक्षण में पाया गया कि कमरों में फर्नीचर अपर्याप्त पायी गयी, सीढ़ियों पर रेलिंग न लगने से दुर्घटना की संभावना है,
खिड़कियों पर शीशे न होने से ठंडी के मौसम में छात्राओं को समस्या हो रही है, छात्राओं में ड्रेस उपलब्ध नही कराया गया है, भवन मानक के अनुरूप नही है, छात्राओं को सेनेट्री पैड उपलब्ध नही कराया गया है, दवाओं की अनुपलब्धता है, सीसी टीवी कैमरा पर्याप्त नही है, कम्प्यूटर खराब स्थिति में है, वित्तीय लेखा-जोखा की पत्रावली विद्यालय में उपलब्ध नही है। जिस पर राज्य मंत्री कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएलसी को निर्देशित करते हुए कहा कि तत्काल उद्यमिता विकास संस्थान लखनऊ के प्रबंधक पर एफआईआर दर्ज कराकर कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उक्त दोनों विद्यालय उद्यमिता विकास संस्थान लखनऊ द्वारा संचालित की जा रही है। इस अवसर पर डीएलसी रोशन लाल, निदेशक सेवायोजन वीके सिंह, जिला सेवायोजन अधिकारी मनिराम यादव अधिकारी उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment