.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़: राष्ट्रीय होमियोपैथी संगोष्ठी में देश के माने जाने चिकित्सक भाग लेंगे - डा. भक्तवत्सल

हमाई प्रदेश इकाई व होमियोपैथिक मेडिकल कालेज चंडेश्वर  द्वारा 02 फरवरी 2020 को नेशनल सेमिनार ऑन होमियोपैथी का आयोजन किया जाएगा

आजमगढ़: होमियोपैथिक मेडिकल एसोसिएशन आफ इंडिया की प्रदेश इकाई व राजकीय श्री दुर्गा जी होमियोपैथिक मेडिकल कालेज चंडेश्वर के तत्वावधान में 2 फरवरी 2020 को सिधारी स्थिति राहुल प्रेक्षागृह में राष्ट्रीय होमियोपैथी संगोष्ठी (नेशनल सेमिनार ऑन होमियोपैथी) का आयोजन किया जाएगा। इसमें देश के माने जाने होमियोपैथिक चिकित्सक भाग लेंगे। आयोजकों का दावा है कि यह सेमीनार मील का पत्थर साबित होगी। सेमीनार में जहां होमियोपैथिक औषधियों और पुस्तकों की प्रदर्शनी लगायी जायेगी वहीं चिकित्सकों को अपने कार्यों को वैज्ञानिक प्रमाणिकता के साथ प्रस्तुत करने का अवसर मिलेगा। कार्यक्रम की तैयारियां जोरशोर से चल रही है।
मंगलवार को हुई आयोजन समिति की बैठक के दौरान मीडिया से बातचीत करते हुए होमियोपैथिक मेडिकल एसोसिएशन आफ इंडिया के राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य एवं सेमिनार आयोजन समिति के अध्यक्ष डा. भक्तवत्सल ने कहा कि होमियोपैथी के अस्तित्व पर कड़े प्रहार किये गये है, लेकिन होमियोपैथी अबाध गति से अपनी गुणवत्ता के आधार पर सर्वसमाज द्वारा तेजी से स्वीकार होती आ रही है। वर्तमान समय में चिकित्सकों के लिए वर्तमान परिवेश में सबसे अच्छा यह है कि हम होमियोपैथी की उपयोगिता को प्रमाणित करें। उन्होंने कहा कि संपूर्ण भारत को निरोग करने का सपना बिना होमियोपैथी को बढ़ावा दिये पूरा नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि यह सेमिनार एक कक्षा की तरह से नहीं होगी, अपितु उसमें चिकित्सकों के किये गये कार्यों को वैज्ञानिक प्रामाणिकता के साथ प्रस्तुत करने का अवसर मिलेगा। होमियोपैथिक मेडिकल एसोसिएशन आफ इंडिया के अध्यक्ष व पूर्व अध्यक्ष सीसीएच डा. रामजी सिंह, निदेशक नेशनल इस्टीच्यूट आफ होमियोपैथी डा. सुभाष सिंह, निदेशक होमियोपैथिक उप्र डा. आनंद चतुर्वेदी, डा. हर्ष निगम, डा. पारिख, डा. अनिरूद्ध वर्मा, डा. पंकज, डा. निशांत, डा. तनवीर, डा. वीबी सिंह नवाब, राजकीय मेडिकल कालेज चंडेश्वर के प्राचार्य राजेंद्र सिंह राजपूत, सहित देश के जाने माने 650 हामियोपैथिक चिकित्सक तथा छात्र भाग लेंगे।
राजकीय मेडिकल कालेज चंडेश्वर के प्राचार्य राजेंद्र सिंह राजपूत ने बताया कि सेमिनार में होमियोपैथिक औषधियों एवं पुस्तकों की एक प्रदर्शनी भी लगेगी। जिसके लिए प्रयास शुरू हो गये है। प्रदेश के सभी मेडिकल कालेज के प्राचार्यो ने भी सेमीनार में शामिल होने की सहमति दे दी है। यह सेमिनार मील का पत्थर साबित होगी।
आयोजन समिति के सचिव डा. प्रमोद कुमार गुप्ता ने बातया कि इस सेमिनार में शामिल चिकित्सक असाध्य रोगों पर अपने शोध प्रस्तुत करेगे। संयोजक डा. देवेश दुबे ने कहा कि हमाई आजमगढ़ की सभी यूनिटे उक्त सेमिनार की तैयारियों में अपना पूर्ण योगदान दे रही है। सोमिनार में देश के विभिन्न होमियोपैथिक कंपनियों के स्टाल, बुक स्टाल, एवं केंद्रीय होमियापैथिक अनुसंधान नई दिल्ली का प्रदर्शन होगा। इस मौके पर डा. एकेराय, डा. मनोज मिश्र, डा. सीजी मौर्य, डा. राजेश तिवारी, डा. चण्डी जीवन बनर्जी, डा. डा. नवीन दूबे, डा. बी. पाण्डेय, डा. एके. राय, डा. प्रभात यादव, डा. मनोज मिश्रा, डा. चमन लाल सिंह, डा. आर.बी. मौर्य, डा. गिरीश सिंह, डा. एस.के. राय, डा. राजकुमार राय, डा. रणधीर सिंह, डा. नेहा दूबे, डा. अभिषेक राय, डा. विक्रांत गर्ग, डा. केशवेंद्र तिवारी, डा. पुनीत गौड़, डा. अनुतोश वत्सल आदि उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment