.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़ : प्रख्यात कवि कुमार विश्वास के नाम पर ठगी की कोशिश

खुद कुमार विश्वास ने आजमगढ़ में अपने किसी कार्यक्रम के न होने की पुष्टि की

आयोजक ने प्रेस वार्ता आयोजित कर 28 नवंबर की जगह नई तिथि 19 दिसंबर का एलान किया था   

आज़मगढ़ : प्रख्यात कवि कुमार विश्वास के नाम पर जनपद में कार्यक्रम को लेकर ठगी का मामला सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार आजमगढ़ के निवासी प्रवीण शुक्ला 28 नवंबर को कार्यक्रम के आयोजन को लेकर तैयारी का दावा कर रहे थे और अधिकारियों के साथ ही प्रायजकों के साथ सम्पर्क कर रहे थे। साथ  कार्यक्रम के लिए महंगे टिकट भी बजे जा रहे थे। फिर अचानक 26 नवंबर को शहर के एक होटल में प्रेस वार्ता का आयोजन कर कार्यक्रम के 28 को न हो पाने और नई डेट 19 दिसंबर को लेकर कुमार विश्वास से बात होने का दावा किया गया।  अचानक से बुधवार को घटनाक्रम बदला व कुमार विश्वास का फ़ेसबुक पोस्ट वायरल होने लगा जिसमें उनके द्वारा आजमगढ़ में किसी भी कार्यक्रम को लेकर किसी से संपर्क न होने की बात लिखी। जानकारी होने पर कथित आयोजक प्रवीण शुक्ला ने खुद को पीड़ित बताते हुई कहा कि केडी ग्रुप नामक इवेंट कम्पनी प्रयागराज के माध्यम से कार्यक्रम का आयोजन हो रहा था और इसके लिए कुछ धन भी दिया गया है। बहरहाल अब प्रवीण शुक्ल ने तहरीर देने की बात कही है।
जिले में कुमार विश्वास का कार्यक्रम लगा दिया गया लेकिन उन्हें इस बात की कोई जानकारी ही नहीं। किसी माध्यम से उन्हें सूचना मिली कि आजमगढ़ में उनका कार्यक्रम आयोजित है तो उन्होंने हैरानी जताते हुए अपने शुभचितकों के लिए फेसबुक एकाउंड डा. कुमार पर संदेश दिया है।
उन्होंने अपने शुभचितकों से कहा है कि प्रिय दोस्तो, अनेक सूचना मिलीं कि कल आजमगढ़ में मेरा कार्यक्रम है, जबकि मुझे खुद भी सूचना तक नहीं है।
इस संदर्भ में दोबारा स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि मेरे कार्यक्रम बुक करने के लिए जो विश्वस्त संपर्क सूत्र हैं, वह मेरे वेरिफाइड फेसबुक पेज पर डा. कुमार विश्वास और मेरे आफिशियल वेबसाइट डब्लूडब्लूडब्लू डाट कुमार विश्वास डाट काम पर दिया गया नंबर और उसके साथ दी गई ईमेल आइडी है। पूर्व में भी कुछ लोगों ने मेरे इवेंट बुक करने के नाम पर ठगी का प्रयास किया था। पिछले दिनों उनमें से एक अपराधी को वाराणसी पुलिस की अपराध शाखा ने गिरफ्तार भी किया था। अब यह नया मामला सामने आया है। एक कंपनी की महिला ने मेरे नाम पर 28 नवंबर को आजमगढ़ में इवेंट बुक होने की बात कही, जबकि मेरे कार्यालय से ऐसी किसी बुकिग के लिए संपर्क नहीं किया गया है। पता करवाने पर कंपनी ने यह पत्र दिखाया, जो कि पूर्ण रूप से झूठा है। चूंकि इसमें हस्ताक्षर भी फ्राड किया गया है। अत: मेरी लीगल टीम ने कानूनी प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। फोन पर संपर्क करने वाली महिला जल्दी ही कानून के शिकंजे में होगी। ऐसे लोगों को इतना भी ध्यान नहीं रहा कि कोई भी परफार्मर अपने या अपनी कंपनी के लेटर हेड पर स्वीकृति देता है न कि इवेंट आर्गेनाइजर के लेटर हेड पर। इनके लेटर हेड पर वेबसाइट दी गई है, वह किसी अन्य कंपनी की है। जिस हस्ताक्षर की नकल करने का प्रयास किया गया है, वह मेरे आटोग्राफ हैं, न कि मेरे लीगल हस्ताक्षर। इन सब से अलग और इस क्रम में सबसे अहम बात यह है कि मेरे किसी भी कार्यक्रम की बुकिग मेरे द्वारा की ही नहीं जाती। मेरी सारी बुकिग कंपनी करती है, जिसके संपर्क सूत्र मेरे आफिशियल फेसबुक (वेरिफाइड) पेज और मेरे आफिसियल वेबसाइट पर है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment