.

.

.

.

.

.

,

,
.

आजमगढ़ :अखण्ड प्रताप सिंह की गिरफ्तारी को एडीजी ने 01 लाख का पुरस्कार घोषित किया

अतरौलिया विधान सभा से बसपा के प्रत्याशी रहे हैं अखंड प्रताप सिंह

 अखंड प्रताप के खिलाफ दो दर्जन से अधिक लूट,हत्या,गैंगेस्टर आदि के मामले दर्ज है

आजमगढ़ : अतरौलिया विधान सभा से बसपा के प्रत्याशी रहे अखंड प्रताप सिंह पर एक लाख का इनाम घोषित किया गया है। अपराधिक मामले में फरार चल रहे अखंड प्रताप सिंह की गिरफ्तारी न होने पर नवंबर माह के प्रथम सप्ताह में पुलिस ने तरवा थाने के जमुआं गांव स्थित घर पर 82 सीआरपीसी की नोटिस भी चस्पा की थी। गांव के प्राथमिक विद्यालय और अन्य सार्वजनिक स्थानों पर नोटिस डुगडुगी बजवाते हुए चस्पा की थी।
तरवा थाने के जमुआं गांव निवासी अखंड प्रताप सिंह वर्ष 2017 में हुए विधानसभा चुनाव से पूर्व तरवा ब्लाक का प्रमुख हुआ करता था। वर्ष 2013 में 11 मई को ट्रांसपोर्टर धनराज यादव की गोली मार कर हत्या के बाद बंदूक भी लूट ली गई थी। इस पर मृत धनराज यादव के भाई बच्चेलाल की तहरीर पर तरवा थाने के पुलिस ने पूर्व ब्लाक प्रमुख अखंड प्रताप सिंह पर मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस अधीक्षक त्रिवेणी सिंह ने बताया कि ट्रांसपोर्टर हत्या कांड में तरवा थाने के जमुवां गांव निवासी अभियुक्त अखण्ड प्रताप सिंह पुत्र साहब सिंह वांछित चल रहा है । अभियुक्त अखण्ड प्रताप सिंह की गिरफ्तारी के लिए अपर पुलिस महानिदेशक वाराणसी जोन की ओर से एक लाख रुपये नगद पुरस्कार (ईनाम) घोषित किया गया है । तरवा थानाध्यक्ष प्रदीप यादव ने बताया कि हत्या में वांछित चल रहे अखंड प्रताप सिंह के खिलाफ तरवा थाने में दो दर्जन से अधिक लूट,हत्या,गैंगेस्टर आदि के मुकदमा दर्ज है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment