.

.

.

.

,

,
.

भूगर्भ जल विभाग के मॉडल पर योजना तैयार कर सठियांव ब्लॉक को अतिदोहित श्रेणी से सुरक्षित श्रेणी में लाएं-डीएम

 जल जमाव/जमाव  की समस्या के लिए रीचार्ज पिट, मेड़बन्दी  करा नालों के किनारे वृक्ष लगाए जाएँ 

आजमगढ़ 16 नवम्बर -- जनपद का विकास खण्ड सठियांव जो 31 मार्च 2013 के आंकड़े के आधार पर अतिदोहित श्रेणी में वर्गीकृत किया गया था, उसको सुरक्षित श्रेणी में लाने के उद्देश्य से भूगर्भ जल विभाग द्वारा तैयार किये गये माॅडल डीपीआर के अनुसार परियोजना तैयार करने हेतु जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में जिला तकनीकी समन्वयक समिति की बैठक सम्पन्न हुई।
इस अवसर पर जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों (कृषि विभाग, भूमि संरक्षण, मनरेगा, वन विभाग, लघु सिंचाई इत्यादि) के संबंधित अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि माॅडल डीपीआर के अनुसार माइक्रो लेवल की परियोजना तैयार कर कार्य कराना सुनिश्चित करें। जिससे विकास खण्ड सठियांव अतिदोहित श्रेणी से सुरक्षित श्रेणी में आ सके। इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि सठियांव ब्लाक के जिन क्षेत्रों में जहाॅ जल जमाव या जल भराव की समस्या है, उन क्षेत्रों में जल जमाव की समस्या के लिए रीचार्ज पिट तथा जल भराव की समस्या के लिए मेड़बन्दी कराना सुनिश्चित करें।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने डीएफओ को निर्देश दिये कि सठियांव ब्लाक के क्षेत्रों में जहाॅ-जहाॅ नाले हैं, उसके किनारे वृक्ष लगाना सुनिश्चित करें। उन्होने सिंचाई विभाग के अधिकारी को निर्देश दिये कि नहरों के टेल तक पानी पहुॅचाना सुनिश्चित करें। आगे जिलाधिकारी ने यह भी निर्देश दिये कि सठियांव ब्लाक के ग्रामों में ग्राम प्रधान, खण्ड विकास अधिकारी के साथ बैठक करें तथा बैठक में जो समस्यायें प्राप्त हों उसका निदान भी करें। अन्त में अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई द्वारा सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया गया।
इस अवसर पर अधिशासी अभियन्ता लघु सिंचाई डीके सिंह, डीसी मनरेगा बीबी सिंह, जिला समाज कल्याण अधिकारी राजेश कुमार यादव, जिला कृषि अधिकारी डाॅ0 उमेश कुमार गुप्ता, भूमि संरक्षण विभाग के जेई, इंजीनियर कुलभूषण सिंह आदि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment