.

.

.

.

,

,
.

आज़मगढ़ : समीक्षा बैठक से अनुपस्थित तीन अधिकारियों का वेतन रोकने, स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश

नामांकित छात्र छात्राओं के आधार नामांकन की ख़राब प्रगति होने पर तीनों जनपद के बीएसए को दी चेतावनी

आज़मगढ़ 16 नवम्बर -- मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने कहा है कि वृहद गोसंरक्षण केन्द्रों एवं कान्हा गोशालाओं का निर्माण कार्य समयवद्ध रूप से पूर्ण कराया जाना अतिसंवेदनशील कार्य है। उन्होंने यह भी कहा कि सम्बन्धित विभाग निरन्तर इस कार्य की मानीटरिंग करते हुए निर्माण कार्य को गुणवत्ता के साथ ही समय पूर्ण कराकर उसे उपयोग में लाना सुनिश्चित करें। मण्डलायुक्त श्रीमती त्रिपाठी प्रत्येक माह के प्रथम एवं तृतीय सोमवार को प्रदेश के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित होनी वाली वीडियो कान्फ्रेन्सिंग से सम्बन्धित बिन्दुओं की शुक्रवार को देर सायं अपने कैम्प कार्यालय पर समीक्षा कर रही थीं। इस दौरान गोवंश आश्रय स्थलों की अद्यतन स्थिति से अवगत कराने हेतु अपर निदेशक पशुपालन उपस्थित नहीं थे, जबकि उनके प्रतिनिधि के रूप में उपस्थित मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी केवल जनपद आज़मगढ़ से सम्बन्धित जानकारी ही उपलब्ध करा सके। मण्डलायुक्त ने इस स्थिति पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए अपर निदेशक पशुपालन से सम्बन्धमें स्पष्टीकरण प्राप्त करने के साथ ही उनका एक दिन का वेतन काटने का निर्देश दिया। इसी प्रकार गन्ना भुगतान की स्थिति के बारे में भी जानकारी देने हेतु न तो उपगन्न आयुक्त ही उपस्थित थे और न ही जिला गन्ना अधिकारी आज़मगढ़ उपस्थित थे, जबकि इन्हें बैठक में अनिवार्य रूप से उपस्थित होने हेतु निर्देशित किया गया था। मण्डलायुक् श्रीमती त्रिपाठी ने इन दोनों अधिकारियों की अनुपस्थिति पर सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कहा कि इनकी अनुपस्थिति से स्पष्ट होता है कि ये दोनों अधिकारी अपने दायित्वों के प्रति गंभीर नहीं हैं। उन्होंने उप गन्ना आयुक्त एवं जिला गन्ना अधिकारी से भी स्पष्टीकरण प्राप्त करने तथा दोनों अधिकारियों का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया। बैठक में वीडियो कान्फ्रेन्सिंग से सम्बन्धित अन्य बिन्दुओं की समीक्षा के दौरान पाया गया कि मण्डल के तीनों जनपदों में परिषदीय एवं अन्य विद्यालयों में नामांकित छात्र छात्राओं के आधार नामांकन किया जाना है। जनपद आजमग़ में परिषदीय विद्यालय में कुल नामांकित 363815 के सापेक्ष 300147, बलिया में 289861 के सापेक्ष 235370, एवं मऊ में 147800 के सापेक्ष 100930, अनुदानित विद्यालयों में आज़मगढ में नामांकित 57292 के सापेक्ष 46265, बलिया मेें 18421 में से 13825 एवं मऊ में 10020 में से 8654 तथा मान्यता प्राप्त विद्यालयों में आज़मगढ़ में 38219 के सापेक्ष 278541, बलिया में नामांकित 26456 के सापेक्ष 22425 एवं मऊ में 9865 नामांकित में से 8311 छात्र-छात्राओं का अधार नामांकन किया गया है। मण्डलायुक्त ने इसमें प्रगति बहुत कम पाये जाने पर असन्तोष व्यक्त करते हुए तीनों जनपद के जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को इस सम्बन्ध में चेतावनी निर्गत करने का निर्देश दिया। उन्होंने परिषदीय विद्यालयों में फर्जी अभिलेखों के आधार सेवारत एवं एसआईटी द्वारा चिहिन्त 4000 अध्यापकों के विरुद्ध की गयी कार्यवाही की भी समीक्षा किया, जिसमें पाया गया कि आज़मगढ़ एवं बलिया में तो ऐसे चिन्हित अध्यापकों की सेवायें समाप्त की जा चुकी हैं परन्तु मऊ में सेवा समाप्ति हेतु अभी सिर्फ नोटिस निर्गत की गयी है। उन्होंने इस सम्बन्ध में बीएसए मऊ को स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।
मण्डलायुक्त कनक त्रिपाठी ने प्रधानमन्त्री आवास योजना शहरी की समीक्षा में अवगत कराया गया कि इस योजना हेतु नामित कम्पनी क्रियेटि कन्सोर्टियम प्रा.लि. द्वारा बड़ी संख्या में आवासों की प्रथम चरण की जिओ टैगिंक के बजाय सीधे द्वितीय एवं तृतीय चरण की जिओ टैगिंग कर दी गयी है जिससे आवासों की प्रथम किस्त निर्गत करने में दिक्कतें आ रही हैं। इस स्थिति पर उन्होंने सख्त नाराजगी व्यक्त करते हुए कम्पनी के प्रतिनिधियों को 5 दिन के अन्दर इस विसंगति को दूर करने तथा अवशेष जिओ टैगिंग को पूर्ण करने का निर्देश देते हुए आगाह किया कि यह अन्तिम अवसर है, यदि इस दौरान कार्य पूर्ण नहीं होता है तो कम्पनी को ब्लैक लिस्टेड करने की कार्यवाही की जायेगी। इसी प्रकार प्रधानमन्त्री आवास योजना ग्रामीण की समीक्षा में प्रथम किस्त निर्गत किये जाने की स्थिति तीनों जनपदों में सन्तोषजनक नहीं पाई गयी। इस पर उन्होंने निर्देश दिया कि एक सप्ताह के अन्दर सभी किस्त लाभार्थियों के खाते चली जानी चाहिए। बैठक में आईजीआरएस, किसान सम्मान योजना, कर वसूली आदि बिन्दुओं पर भी विस्तार से चर्चा हुई।
इस अवसर पर अपर आयुक्त (प्रशासन) धर्मेन्द्र सिंह, अपर निदेशक स्वास्थ्य डा. एनएल यादव, संयुक्त कृषि निदेशक एसके सिंह, संयुक्त शिक्षा निदेशक एपी वर्मा, उप निदेशक महिला कल्याण ओंकारनाथ यादव, उप निदेशक पंचायती राज राम जियावन सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment