.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

यूनियन बैंक द्वारा आयोजित दो दिवसीय ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम का उद्घाटन हुआ

विभिन्न बैंकों ने द्वारा विभिन्न प्रकार के ऋण प्रदान करने से संबंधित स्टाल लगाये गए है ,आमजन लाभ उठाएँ -एन पी सिंह , जिलाधिकारी  

आजमगढ़ 23 अक्टूबर -- भारत सरकार वित्त मंत्रालय के निर्देशानुसार यूनियन बैंक क्षेत्रीय कार्यालय आजमगढ़ द्वारा कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम का उद्घाटन जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह व शैलेश कुमार सिंह, महाप्रबंधक यूबीआई केन्द्रीय कार्यालय मुम्बई, मुकेश भारती शर्मा क्षेत्र प्रमुख यूबीआई द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया।
ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा सभी प्रकार के ऋण प्रदान करने से संबंधित योजनाओं का युवाओं में प्रचार-प्रसार के लिए स्टाॅल लगाया गया है, यह ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम 23 व 24 अक्टूबर 2019 को कलेक्ट्रेट परिसर में आयोजित रहेगा।
जिलाधिकारी ने बताया कि ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न बैंको द्वारा लगाये गये स्टालों का उद्देश्य है कि ग्राहकों को कृषि ऋण, वाहन ऋण, गृह ऋण, मुद्रा ऋण, शिक्षा ऋण एवं सूक्ष्म लघु एवं मध्यम ऋण, पेंशन ऋण आदि के बारे में जन सामान्य को जागरूक करना है, जिससे आम जनमानस उक्त ऋ़णों के नियमों और शर्तों को जानकर अधिक से अधिक लाभ उठा सके। जिलाधिकारी ने अपने सम्बोधन में कहा कि अर्थ/धन के बिना समाज उत्थान नही हो सकता है, इसलिए आज बैंकों द्वारा युवाओं को उद्यमिता से ज्यादा से ज्यादा जोड़ने की आवश्यकता है, जिससे आज के युवा स्वावलम्बी बन सकें, अपनी तथा समाज तथा देश की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ कर सके।
जिलाधिकारी ने बैंको के प्रतिनिधियों से कहा कि युवाओं को उद्यमिता के क्षेत्र में ज्यादा से ज्यादा लोन दें। उन्होने बैंको के प्रतिनिधियों से कहा कि राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की महिलाओं को भी ज्यादा से ज्यादा बैंक लिंकेज कर ऋण प्रदान करें, क्यांेकि पिछले वित्तीय वर्ष 2018-19 में उ0प्र0 में आजीविका मिशन की महिलाओं द्वारा 88 हजार करोड़ लोन लिया गया था, जिसमें मात्र 2 प्रतिशत एनपीए था, जबकि बड़े-बड़े उद्योग बड़े पैमाने पर लोन लेते हैं तथा उनका एनपीए स्तर भी काफी ज्यादा रहता है।
आगे जिलाधिकारी ने कहा कि यदि युवाओं को सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्योग से जोड़कर तथा युवाओं को आरसेटी के अन्तर्गत प्रशिक्षण देकर, क्वालिटि कन्ट्रोल तथा बाजारों के बारे में जागरूकता पैदा किया जाय, तो युवाओं को जो भी ऋण दिया जायेगा, उसमंे एनपीए मात्र 01 प्रतिशत से ज्यादा नही होगा।
जिलाधिकारी ने समस्त बैंको के प्रतिनिधियों से अपील किया कि अपने स्तर से अपने संबंधित बैंकों के सीडी रेसिओ का विश्लेषण करें तथा ज्यादा से ज्यादा युवाओं को ऋण देकर बैंकों के सीडी रेसिओ को बढ़ायें। आगे उन्होने यह भी कहा कि जो बैंक मुद्रा लोन, स्टार्ट-अप लोन में अच्छे कार्य करेंगे, उसमें से 05 का चयन कर 26 जनवरी को सम्मानित किया जायेगा। उन्होने बैंकों के समस्त प्रतिनिधियों से कहा कि ऋण प्रो-एक्टिव होकर उपलब्ध करायें।
जिलाधिकारी ने आम जन से अपील किया है कि दो दिवसीय ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम में विभिन्न बैंकों द्वारा विभिन्न प्रकार के ऋण प्रदान करने से संबंधित स्टाल लगाये गये हैं, इस ग्राहक उन्मुखी कदम में  लगाये गये स्टालों पर आकर उसका लाभ उठायें।
क्षेत्र प्रमुख यूबीआई मुकेश भारती शर्मा ने बताया कि इस ग्राहक उन्मुखी कदम कार्यक्रम में जिले के सभी सार्वजनिक बैंक, सभी व्यवसायिक बैंक, आरसेटी, सभी मुख्य एजेंसी के साथ-साथ अन्य बैंकों से लाभ प्राप्त लाभार्थी शक्रिय रूप से प्रतिभाग किये। इस प्रथम दिन के कार्यक्रम में यूनियन बैंक आफ इण्डिया द्वारा कुल 512 ग्राहक को कुल रू0 16.52 करोड़ तथा बाकि अन्य बैंक 323 ग्राहक को रू0 16.43 करोड़, सभी बैंकों को मिलाकर 835 ग्राहक को कुल रू0 32.95 करोड़ ऋण वितरित की गयी।
इस अवसर पर शैलेश कुमार सिंह महाप्रबंधक यूबीआई, मुकेश भारती शर्मा क्षेत्र प्रबंधक यूबीआई, डीडीएम नाबार्ड शशि भूषण द्वारा अपने-अपने विचार व्यक्त किये गये।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार शुक्ला, एलडीएम यूबीआई शंकर चन्द्र सामंत, उपक्षेत्र प्रमुख यूबीआई उपेन्द्र कुमार सिंह, मुख्य प्रबंधक यूबीआई श्याम सुन्दर देवगन, आरसेटी निदेशक रामानन्द मिश्र, यूबीआई क्षेत्रीय कार्यालय के संबंधित अधिकारी/कर्मचारी सहित विभिन्न बैंकों के प्रबंधक/प्रतिनिधि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment