.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,
.

मोहर्रम शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने को मिश्रित आबादी वाले स्थानों में नियुक्त हुए सेक्टर मजिस्ट्रेट

नियुक्त सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने आवंटित क्षेत्रों में मोहर्रम का त्यौहार शान्तिपूर्वक, सकुशल सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें- जिलाधिकारी 

आजमगढ़ 02 सितम्बर-- जिलाधिकारी नागेन्द्र प्रसाद सिंह ने बताया है कि इस्लामिक हिजरी कैलेण्डर के अनुसार मोहर्रम माह, (चन्द्रदर्शन के अनुसार) दिनांक 01 सितम्बर 2019 से प्रारम्भ हो गया है, फलस्वरूप दिनांक 10 सितम्बर 2019 (मंगलवार) को 10वीं मोहर्रम का मुख्य दिन होगा। मोहर्रम माह की 6वीं, 7वीं, 8वीं व 9वीं तारीखें भी महत्वपूर्ण होती है। इस दौरान, मुख्यतः शिया-मुस्लिमों द्वारा मातम, अजादारी व नौहाख्वानी करते हुए अपने घरों, इमामबाड़ों, इमाम-चैक आदि पर ताजिये व अलम रखे जाते हैं एवं शोक का भावनात्मक प्रदर्शन किया जाता है। 10वीं मोहर्रम को इन ताजियों को जुलूस के रूप में स्थानीय कर्बला तक ले जाकर वहाॅ प्रतीकात्मक रूप से दफनाये जाने की परम्परा है।
उन्होने बताया है कि मोहर्रम पर्व के दौरान मुस्लिम समुदाय के शिया एवं बहुसंख्यक सुन्नी मुस्लिमों के मध्य मतभेदों के कारण जनपद में अतिसंवेदनशीलता के दृष्टिगत शांति व्यवस्था एवं साम्प्रदायिक सौहार्द बनाये रखते हुए जनपद में मोहर्रम का त्यौहार सकुशल सम्पन्न कराने हेतु थाना क्षेत्रवार शिया सुन्नी मिश्रित आबादी वाले कस्बे/ग्रामों में सेक्टर मजिस्ट्रेट की नियुक्ति की गयी है।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिये हैं कि नियुक्त सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने आवंटित क्षेत्रों में मोहर्रम का त्यौहार शान्तिपूर्वक, सकुशल सम्पन्न कराना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि समस्त उप जिलाधिकारी अपने क्षेत्रान्तर्गत त्यौहार के दौरान शान्ति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने हेतु ओवरआल प्रभारी होंगे। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment