.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

आजमगढ़: विद्युत विभाग के अवर अभियंता को एंटी करेप्शन टीम ने घूस लेते रंगे हाथ दबोचा

प्रयास संगठन ने पहल कर पीड़ित उपभोक्ता की मदद की,लोगों का बिल बढ़ा कर संशोधन के नाम पर धनउगाही करता जेई छोटे लाल

आजमगढ़। योगी सरकार भले ही भ्रष्टाचार खत्म करने का दम भरती हो लेकिन असल में उनके मातहत सरकार की व्यवस्था के असल सच को समय समय पर उजागर कर किरकिरी करा रहे है। प्रयास सामाजिक संगठन की सूझबूझ से विद्युत विभाग के एक अवर अभियंता को घूस लेते हुए रंगे हाथ गोरखपुर से आयी एंटी करेप्शन की टीम द्वारा दबोचा गया। प्रयास अध्यक्ष रणजीत सिंह ने कहा कि किसी भी विभाग में अगर कोई भी अधिकारी घूस लेता हो तो हमें अवगत कराये संस्था उससे सबक सिखाने का काम करेगी।
इस बावत जानकारी देते हुए प्रयास सामाजिक संगठन के अध्यक्ष रणजीत सिंह ने बताया कि जीयनपुर थाना क्षेत्र के अमुवारी नारायणपुर गांव में स्थित विद्युत उपकेंद्र पर तैनात अवर अभियंता छोटे लाल निरंतर विद्युत उपभोक्ताओं के बिल को बढ़ाकर भेजने का काम करते थे बाद मे संशोधन के नाम पर धनउगाही का खेल रचते थे। इसी तरह अवर अभियंता छोटेलाल ने थाना जीयनपुर अंतर्गत निवासी पोस्ट अमुवारी नारायणपुर गांव टेकनगाढ़ा जगपत पुत्र स्व रघुनाथ का विद्युत कनेक्शन संख्या एजेड24125172787 को 24 हजार के बिल को अपने आईडी का दुरूपयोग करते हुए उसे बढ़ाकर एक लाख 58 हजार चार सौ 62 रूपये कर दिया। जिसके वास्तविक संशोधन के नाम पर 15 हजार की मांग करते हुए एफआईआर दर्ज करने की धमकी दिया जा रहा था। पीड़ित किसी तरह 10 हजार रूपया देकर जेई से कुछ माह का समय मांगा। जिसके बाद उन्होंने पूरे प्रकरण को प्रयास सामाजिक संगठन के रणजीत सिंह को बताया कर न्याय की मांग किया। रणजीत सिंह ने पीड़ित को आश्वस्त करते हुए कहा कि जेई को शेष 5 हजार रूपया देने के लिए 26 जुलाई की तिथि बताने को कहा गया। जिसके बाद पूरे मामले की सूचना गोरखपुर की एंटी करप्शन टीम को दिया गया। शुक्रवार को जनपद पहुची एंटी करप्शन टीम सुबह जिलाधिकारी से अनुमति लिया और डीएम ने अनुमति प्रदान करते हुए टीम को पीडब्लूडी के वरिष्ठ सहायक पवन श्रीवास्तव व सीएमओ कार्यालय में तैनात कनिष्ठ सहायक मनोज कुमार यादव को गवाह के रूप में उपलब्ध कराया। मौके पर एंटी करप्शन टीम की मदद करने के लिए प्रयास की टीम पल-पल का अपडेट दे रही थी। टीम ने जगपत से पूरा मामला समझा और केमिकल युक्त 5 हजार रूपये अवर अभियंता को देने के लिए दिया। जिसके बाद जगपत ने जैसे ही पांच हजार रूपया जेई छोटेलाल का थमाया और विद्युत बिल में संशोधन के लिए जेई ने हामी भरी तत्काल एंटी टीम के प्रभारी डीपी रावत व अन्य सदस्यों ने उसे दबोच लिया। जिसके बाद जेई के पांव के नीचे की जमीन ही खिसक गयी और उसे एंटी करप्शन टीम ने जीयनपुर थाने ले आयी और कानूनी कवायद में जुट गयी।
प्रयास अध्यक्ष रणजीत सिंह ने कहा कि कहीं किसी भी विभाग में कोई अधिकारी व कर्मचारी किसी से भी धनउगाही की मांग करता हो तो उसे तत्काल प्रयास को बतायें। हम पूरी गोपनियता बनाते हुए ऐसे भ्रष्टाचारी व्यक्ति को सलाखों के पीछे भेजने का काम करेंगे। एंटी करप्शन टीम में प्रभारी डीपी रावत, इंस्पेक्टर रामधारी, चंद्रेश यादव, एके सिंह, शैलेन्द्र राय, चन्द्रभान मिश्रा व प्रयास टीम के तरफ से रणजीत सिंह, अभिषेक सिंह नीरज, इंजी सुनील यादव मौके पर डटे रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment