.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: पॉलिटेक्निक छात्र को फोन पर घर से बुला कर गोली मार कर हत्या

लखनऊ में पढ़ रहा था मृतक छात्र ,हत्या का आरोपी युवक अभी भी फरार 

सिधारी थाना क्षेत्र के सर्फुद्दीनपुर स्थित पीडब्लूडी कार्यालय परिसर में घटी घटना 

आजमगढ़: गोली मारकर एक युवक की हत्या कर दी गयी। बताया जा रहा है की मृतक छात्र के परिचित युवक ने फोन कर उसे घर से बुलाया और अपने साथियों के साथ इस घटना को अंजाम दिया। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर मौके से फरार हो जाने में कामयाब रहे। गोली की आवाज सुनकर आसपास के तमाम लोग एकत्रित हो गये। लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पाते ही पुलिस मौके पर पहुंच गयी। इस बीच रोते बिलखते मृतक के परिजन भी सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंच चुके थे। पुलिस ने मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।घटना सिधारी थाना क्षेत्र के सर्फुद्दीनपुर स्थित पीडब्लूडी कार्यालय परिसर में घटी। मृतक का नाम अभिषेक सिंह उम्र 19 वर्ष पुत्र राकेश सिंह है। वह मूलत: अम्बेडकर नगर जिले के अकबरपुर थाना क्षेत्र के सिरसानी अखईपुर गांव का रहने वाला था और शहर के पल्हनी में अपने परिजनों के साथ किराये के मकान में रहता था। मृतक के पिता राकेश सिंह रानी की सराय थाना क्षेत्र के पूर्वांचल पीजी कालेज गोबरहीं में शिक्षक हैं और सिधारी पर कोचिंग में भी पढ़ाते है । अभिषेक सिंह शहर के चिल्ड्रेन कालेज का होनहार छात्र रहा था और मौजूदा समय में लखनऊ के सरकारी कालेज से पॉलिटेक्निक कोर्स कर रहा था। दो भाईयों में छोटा अभिषेक मौजूदा समय में छुट्टी होने की वजह से अपने परिवार के सदस्यों के साथ रहने के लिए आया हुआ था। मृतक के पिता के अनुसार हुआ यह कि बीती शाम उसके साथी आदित्य सिंह पालीवाल ने उसे दो तीन बार फोन करके पीडब्लूडी कैंपस में बुलाया। जब अभिषेक वहां पहुंचा तो आदित्य अपने दो अन्य साथियों के साथ वहां पहले से ही मौजूद था। अभिषेक के पहुंचने के बाद किसी बात को लेकर कुछ देर तक उसकी आदित्य के साथ कहा-सुनी होती रही। इसी कहा-सुनी के दौरान आदित्य ने उसके सिर पर गोली मार दी जिसकी वजह से मौके पर ही उसकी मौत हो गयी। गोली मारने के बाद तीनों हमलावर मौके से फरार हो गये। मुख्य हत्यारोपी आदित्य सिंह पालीवाल के पिता रजनीश सिंह पीडब्लूडी कार्यालय में क्लर्क हैं और आदित्य अपने परिजनों के साथ मूसेपुर स्थित पीडब्लूडी के सरकारी आवास में ही रहता है। घटना के बाद हत्यारोपियों ने अभिषेक सिंह की मोबाइल भी ले ली। साथ ही इस घटना के बाद से ही मुख्य हत्यारोपी के पिता भी फरार चल रहे हैं। पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। साथ ही पुलिस आरोपियों की तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है। यह अलग बात है कि समाचार लिखे जाने तक कोई भी आरोपी पुलिस के हत्थे नहीं लग सका है। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment