.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़: पैसों भरा बैग गायब देख कैश वन कर्मी ने पुलिस को दी लूट की सूचना, झूठा मामला निकला

विद्युत् बिल जमा करने वाले मोबाइल कैश वैन के कर्मी ने दी थी सूचना,गाडी में ही मिला बैग  

आजमगढ़ : शुक्रवार को दिन में एक विद्युत् बिल जमा करने वाले मोबाइल कैश वैन के कर्मी ने डायल 100 पुलिस को सूचना दी की अतरौलिया बाजार से निकलते ही किसी ने उसके मोबाइल कैश वैन को रोक लिया और तमंचा सटा कर कैश भरा बैग लूट कर फरार हो गया। बैग में एक लाख 65 हजार रुपये थे। दिन दहाड़े लूट की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। सूचना मिलते ही जब तक पुलिस मौके पर पहुंचती, तब तक लुटेरे दूर निकल चुके थे। पर जब मामले की पुलिस द्वारा गहन जांच की गई तो पूरा घटना क्रम झूठा निकला। अतरौलिया थाने के जमीन दसांव गांव का सुनील सिंह बिजली विभाग में कांट्रैक्ट के तहत ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत बिल की वसूली करता है। इसके लिए विभाग से उसे बिल जमा करने के लिए लैपटाप और पासवर्ड मिला है। शुक्रवार को सुबह वह अतरौलिया क्षेत्र में मोबाइल कैश वैन के साथ उपभोक्ताओं से बिल की राशि वसूल कर दोपहर लगभग दो बजे वापस कप्तानगंज स्थित विद्युत वितरण खंड 6 में कैश जमा करने के लिए आ रहा था। अतरौलिया बाजार से निकलते ही मदिया मोड़ के पास पहुंचते ही सामने से बाइक सवार दो युवकों ने रोकने के लिए इशारा किया। वैन सवार कर्मचारी सुनील सिंह ने समझा बिल जमा करना होगा। इसीलिए रोक रहे हैं। वैन रूकते ही बाइक सवार युवकों ने तमंचा निकाल लिया और कनपटी पर सटा कर वैन में रखा कैश भरा बैग लूट ले गए। सुनील सिंह ने इसकी सूचना पुलिस को न देकर विद्युत विभाग के अधिकारियों को दी। एसडीओ की ओर से दिनदहाड़े लूट की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। डायल 100 पुलिस के साथ ही अतरौलिया थाने की पुलिस के साथ ही एसओजी टीम, सीओ बूढ़नपुर रामजनम मौके पर पहुंचे। लूट के शिकार सुनील सिंह से पूछताछ कर थाने पर लाया। इधर पुलिस ने चेकिंग अभियान शुरू कर दिया। मगर लुटेरों का पता नहीं चल सका। देरशाम तक पुलिस ने पीड़ित को लेकर घटना स्थल पर जांच पड़ताल किया तो पता चला तो वहां पर किसी ने भी ऐसी घटना का होना नही बताया बताया। जिस पर पुलिस ने जोर डाला तो फिर यह पता चल ही गया की कथित लूट का शिकार अपनी कार से जा रहा था और रुपयों भरा बैग सरककर सीट के नीचे चला गया। जब उक्त कर्मी ने देखा की बैग गायब है तो उसने ने घबराकर अधिकारियों और पुलिस को सूचित किया की किसी ने पैसा लूट लिया है। पुलिस की जांच में पैसा भरा बैग सीट के नीचे पाया गया लूट की सूचना झूठी पाई गई।  

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment