.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

महामिलावट की सरकार से देश में होगी अराजकता व अस्थिरता: नरेन्द्र मोदी

देश की जनता दिल्ली में महामिलावट, ठगबंधन व मजबूर सरकार नही चाह रही है- प्रधानमंत्री 

मनमोहन सरकार थी महाघोटालेबाजों की सरकार

आजमगढ़। देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरूवार को मंदूरी हवाई पट्टी पर आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहाकि आजमगढ की धरती ऋषि मुनियों की धरती रही है। यह धरती साहित्य जगत को अनेकों मनीषी दिये है, ऐसी धरती को मैं प्रणाम करता हँू। आज मैं आपके बीच में दिल्ली में एक मजबूर नहीं, मजबूत सरकार बनाने के लिए आशीर्वाद मांगने आया हूँ। पांच चरणों के मतदान के बाद आप खुद देख रहे है कि आपके सेवक को देश के कोने-कोने में भरपूर समर्थन मिल रहा है। जिस तरह को जनसैलाब आजमगढ़ की धरती पर देखने को मिला वैसा ही जनसैलाब हर तरफ उमड़ रहा है। क्योंकि देश की जनता दिल्ली में महामिलावट, ठगबंधन व मजबूर सरकार नही चाह रही है। वह फिर से मजबूत सरकार चाह रही है।प्रधानमंत्री श्री मोदी ने कहाकि सपा-बसपा व कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहाकि जो लोग केन्द्र में एक खिचड़ी सरकार, महामिलावट वाली सरकार चाहते है। उनसे सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि महामिलावट से देश को खतरा है। महामिलावटों से खासकर उन युवाओं को सावधान रहने की जरूत है जो पहलीबार देश के लिए अपने मत का प्रयोग करेंगे।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केन्द्र में 20 साल पहले बनी संयुक्त मोर्चा की सरकार का हवाला देते हुए कहाकि मिलावट की सरकार देश में अराजकता और अस्थिरता पैदा करती है। जिसका परिणाम होता है कि देश में बार बार चुनाव कराने पड़ते है। ऐसी सरकारों में न तो ठोस  कदम उठाने का साहस होता है और न ही चुनौतियों के सामना करने का। 20 साल पहले बनी संयुक्त मोर्च की सरकार यह देखने को मिला। 2004 से 2014 तक के मनमोहन सरकार की भी प्रधानमंत्री मोदी ने जमकर खिंचाई करते हुए कहाकि यह सरकार महाघोटालेबाज थी। भारत को दुनिया में शर्मिन्दा करने का काम किया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment