.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : छिटपुट नोकझोंक के बीच मतदान शांति पूर्व रूप से संपन्न हो गया,दो दर्जन हिरासत में रहे

गमछा उतरवाने को लेकर भाजपा नेता विश्वजीत सिंह और समर्थकों संग  दरोगा की बहस हुई वायरल 

आजमगढ़ : जिले के दोनों लोकसभा क्षेत्रों में रविवार को छिटपुट नोकझोंक के बीच मतदान शांति पूर्व रूप से संपन्न हो गया। कहीं फर्जी वोटिग को लेकर तो कहीं पार्टी से संबंधित गमछा लेकर पहुंचने तो कहीं मतदाता सूची से नाम गायब होने को लेकर विवाद हुआ। पुलिस ने उपद्रव कर रहे दो दर्जन लोगों को हिरासत में ले लिया। मतदान संपन्न होने के बाद उन्हें छोड़ दिया।
शहर के डीएवी महाविद्यालय बूथ पर मतदान के लिए कुछ युवक कंधे पर भगवा गमछा लेकर तो कुछ पगड़ी बांध कर बूथ पर जा रहे थे। केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स के जवानों ने जब उक्त युवकों का गमछा उतरवा लिया तो वे भड़क गए और कहासुनी करने लगे। मामला तूल पकड़ता देख पुलिस के अधिकारी भी आ गए। समझाया कि अगर उन्हें वोटिग करना है तो गमछा बाहर रखकर आए। जानकारी अनुसार डीएवी इंटर कालेज में बने बूथ पर भाजपा नेता व कार्यकर्ताओं का भगवा गमछा उतारने को लेकर वहां तैनात दरोगा से विवाद हो गया। इस दौरान दोनों पक्षों में तीखी नोकझोक हुई। इस दौरान भाजपा नेताओं ने सपा के लोगों के बूथ में घुमाने और भाजपाइयों से दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया। इस बात की शिकायत आलाधिकारियों से भी की गयी ।बता दें कि उक्त केंद्र पर दोपहर तक शांतिपूर्ण ढंग से मतदान चल रहा था। इसी दौरान बीजेपी के नेता व पूर्व सभासद विश्वजीत सिंह पालीवाल कुछ कार्यकर्ताओं के साथ सड़क से गुजर रहे थे। डीएवी गेट के सामने सुरक्षा के लिए तैनात एसआई गिरिराज सिंह ने विश्वजीत और उनके साथियों से गमछा उतारने को कहा। लोगों ने विरोध किया और बताया कि वे रास्ते से जा रहे तब भी एसआई नहीं माने। फिर क्या था दोनों पक्षों में तीखी झड़प शुरू हो गयी। सूचना के बाद बड़ी संख्या में भाजपाई और पुलिस के जवान वहां पहुंच गए। किसी तरह से समझा-बुझाकर मामले को शान्त कराया गया।आहोपट्टी, बद्दोपुर, ममरखापुर समेत अन्य मतदान केंद्रों पर भी फर्जी वोटिग की बात को लेकर पार्टी समर्थकों के बीच झड़प हो गयी। पुलिस फोर्स ने डंडा भांजकर उन्हें मतदान केंद्र से दूर खदेड़ दिया। इन स्थानों से तीन लोगों को हिरासत में ले लिया। सिधारी क्षेत्र के सर्फुद्दीनपुर जूनियर हाई स्कूल व कन्या पाठशाला पर भी फर्जी मतदान को लेकर पार्टी समर्थकों के बीच झड़प होने लगी। पुलिस ने उन्हें खदेड़कर भगा दिया।
वहीँ सरायमीर क्षेत्र के मंजीरपट्टी मतदान केंद्र के बूथ संख्या 221 पर उस समय लोग हंगामा करने लगे जब कुछ लोगों ने आरोप लगाया कि पीठासीन अधिकारी मतदाताओं से नोटा बटन दबाने के लिए कह रहे हैं। शिकायत पर सरायमीर थानाध्यक्ष के साथ ही बीएसएफ के डिप्टी कमांडर भी पहुंचे। उन्होंने पीठासीन अधिकारी को फटकार लगाकर लोगों को शांत करा दिया। पंचायत इंटर कालेज खानपुर के बूथ संख्या 271 पर सुबह नौ बजे तक बीएलओ के बूथ पर न आने से मतदाता पर्ची न मिलने पर वोट देने के लिए आए लोग नाराज हो गए और वे हंगामा करने लगे। फोर्स ने समझाकर शांत करा दिया। रौनापार प्रतिनिधि के अनुसार क्षेत्र के बघरा मतदान केंद्र के बूथ संख्या 192 पर गठबंधन के कार्यकर्ताओं द्वारा फर्जी मतदान करने की बात को लेकर भाजपा समर्थकों के साथ नोकझोंक होने लगी। हंगामा की खबर पाकर मौके पर पहुंचे एसओ रौनापार ने स्थिति को संभाल लिया। जहानागंज क्षेत्र के बरहतीर जगदीशपुर गांव के मतदाताओं को बीएलओ द्वारा मतदाता पर्ची वितरण न करने पर वे मुस्तफाबाद मतदान केंद्र पर पहुंच कर हंगामा करने लगे। मौके पर पहुंचे अधिकारियों ने समझा बुझाकर लोगों को शांत करा दिया। सगड़ी के सेठाकोली मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी द्वारा एक पार्टी के पक्ष में मतदान कराने की बात को लेकर लोग भड़क गए। क्षेत्र के मतदाता उक्त मतदान कर्मी के खिलाफ कार्रवाई की मांग करने लगे। सूचना पाकर मौके पर पहुंचे रौनापार थानाध्यक्ष ने स्थिति को संभाल लिया।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment