.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

जमीन के लिये जिला प्रशासन के सहयोग में उतरी विश्वविद्यालय अभियान टीम, 15 कि.मी. के भीतर कार्यालय होने की मांग

कुछ जनप्रतिनिधिगण द्वारा प्रस्तावित विश्वविद्यालय को अपने क्षेत्र में ले जाने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है- विश्वविद्यालय अभियान टीम


आज़मगढ़: चार वर्षों से विश्वविद्यालय अभियान के अंतर्गत सतत संघर्षों के बाद आज़मगढ़ के लिये घोषित राज्य विश्वविद्यालय की स्थापना को लेकर किसी भी तरह का मज़ाक बर्दाश्त नहीं होगा। विश्वविद्यालय के लिये अस्थाई कार्यालय और ज़मीनों की तलाश के लिये विश्वविद्यालय अभियान टीम जिला प्रशासन का निरन्तर सहयोग कर रही है। इसके अंतर्गत आज़ तहसीलदार सदर पवन कुमार सिंह को ज्ञापन सौंपा गया।इसके पूर्व विश्वविद्यालय की राजाज्ञा जारी होने के बाद जिलाधिकारी शिवकांत द्विवेदी और उपजिलाधिकारी सदर पंकज श्रीवास्तव को ज्ञापन सौंपकर प्रस्तावित विश्वविद्यालय का अस्थाई कार्यालय और बिल्डिंग जिला मुख्यालय से 10-15 किलोमीटर की परिधि में बनाने की मांग की जाती रही है। विश्वविद्यालय को इससे दूर ले जाने के प्रयासों के पुरज़ोर विरोध होगा। पिछले 4 सालों से विश्वविद्यालय अभियान के द्वारा शासन प्रशासन को विश्वविद्यालय के लिये उपयुक्त जमीनों की सूची सौंपी जाती रही है। आस पास जमीनों की कोई कमी नहीं है किंतु कुछ जनप्रतिनिधिगण विश्वविद्यालय को अपने क्षेत्र में ले जाने का कुत्सित प्रयास किया जा रहा है। इसे कत्तई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
ज्ञापन सौंपने वालों में शिक्षक नेता डॉ0प्रवेश कुमार सिंह, नजीर अहमद मंसूरी, छात्रनेता सौरभ यादव, अमित कुमार सिंह, प्रमोद सोनकर, संदीप कुमार, डॉ0ईश्वर चन्द्र त्रिपाठी, डॉ0इंद्रजीत कुमार, डॉ0सुजीत भूषण, राकेश गांधी, डॉ0राजीव त्रिपाठी आदि शामिल रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment