.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

आजमगढ़ : नीमा ने 'कान की सामान्य बीमारी' विषय पर चिकित्सीय संगोष्ठी का आयोजन किया

मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल कान की बीमारियों को बढ़ावा देता है - डॉ अमित चड्ढा, पीजीआई विशेषज्ञ 

आजमगढ़ : बीती रात रोडवेज स्थित एक होटल के सभागार में नेशनल इंटीग्रेटेड मेडिकल एसोसिएशन (नीमा) आज़मगढ़ इकाई द्वारा 'कान की सामान्य बीमारी' विषय पर चिकित्सीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस संगोष्ठी को पीजीआई के नाक, कान, गला रोग विशेषज्ञ डॉ अमित चड्ढा ने संबोधित किया।आज के चिकित्सकों के प्रैक्टिस में प्रतिदिन होने वाली कान की समस्याओं पर डॉ अमित चड्ढा ने विस्तार से व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि कान की किसी भी समस्या को बिना देखे इलाज न करें अन्यथा मरीज का नुकसान हो सकता है। उन्होंने कहा कि कान में किसी भी प्रकार के तेल, घी, हल्दी आदि को नहीं डालना चाहिए। इससे विभिन्न प्रकार के कवकजनित बीमारियों के होने की संभावना रहती है। स्टेफीलोकॉकस संक्रमण को विस्तार से बताते हुए डॉ अमित चड्ढा ने चिकित्सकों को इसके बेहतर इलाज के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि कान की छोटी से छोटी बीमारी में भी जाँच करके ही निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है। बिना प्रत्यक्ष देखे दवा देने से हानि हो सकती है।
डॉ चड्ढा ने कहा कि अनावश्यक रूप से मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल कान की बीमारियों को बढ़ावा देता है। अतः मोबाइल का इस्तेमाल सीमित समय तक ही करना चाहिए। साथ ही यदि आप शोरगुल वाली जगहों पर जाएं तो कान को ढंककर रखें, जिससे तीव्र ध्वनि से कानों को बचाया जा सके।
आज की संगोष्ठी की उपयोगिता के बारे में डॉ चड्ढा ने कहा कि यदि दूर दराज गाँव मे चिकित्सा करने वाले चिकित्सक भी जागरूक होंगे, तो हर मरीज की उचित चिकित्सा हो सकेगी। जानकारी के अभाव में गलत चिकित्सा मरीज के कान के सुनने की शक्ति क्षीण कर सकती है।
इससे पूर्व नीमा के पैट्रन डॉ वी के सिंह, पूर्व अध्यक्ष डॉ वी एस सिंह, एडवाइजर डॉ पी एन मिश्रा और अध्यक्ष डॉ डी डी सिंह ने डॉ अमित चड्ढा को बुके देकर सम्मानित किया।
संगोष्ठी का संचालन कृष्णानंद राय ने किया तथा धन्यवाद ज्ञापन नीमा के अध्यक्ष डॉ डी डी सिंह ने किया। इस अवसर पर डॉ राजेन्द्र प्रसाद यादव, डॉ विनोद कश्यप, डॉ चक्रधर दूबे, डॉ संतोष मौर्या, डॉ अबु शाहमा खान, डॉ मनीष राय, डॉ मुकेश पांडेय, डॉ डी पी सिंह, डॉ जगदीश यादव, डॉ जी पी गुप्ता, डॉ शैलेश मिश्रा, डॉ उमा शंकर सिंह, डॉ मनीषा मिश्रा, डॉ नाजरा बानो, डॉ आकांक्षा बंसल, डॉ दीपिका बरनवाल, डॉ ए के बरनवाल, डॉ तपन बिस्वास, डॉ बी बी सिंह, डॉ एस एन सिंह, डॉ बिष्णु कुमार, डॉ संतोष कुमार सिंह, डॉ देवाशीष शुक्ला, डॉ राजवंत चौहान, डॉ विजय शंकर, डॉ सतीश चंद्रा, डॉ एम पी राय, डॉ ए अजीजी, डॉ फहीम, डॉ अनुपम सिंह, डॉ एस के वर्मा, डॉ स्वतंत्र पाल सिंह, डॉ पवन विश्वकर्मा, डॉ राम चंद्र, डॉ एस वी सिंह, डॉ साहेब शर्मा, डॉ महेंद्र विश्वकर्मा, डॉ संतोष कुमार, डॉ राजेश प्रजापति, डॉ मनीष चौबे, डॉ विनोद जायसवाल, डॉ वी एस सिंह, डॉ वी के सिंह, डॉ पी एन मिश्रा, डॉ डी डी सिंह सहित नीमा के पदाधिकारीगण और जिले के चारो तरफ से आए चिकित्सकगण उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment