.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

किसानों को औने-पौने दाम पर बिचौलियों को गन्ना बेचना पड़ रहा है-हवलदार यादव

भाजपा की जनविरोधी नीतियों के कारण किसान बर्बाद हो रहा है- हवलदार यादव ,सपा जिलाध्यक्ष 

आजमगढ़: भाजपा की जनविरोधी नीतियों के कारण किसान बर्बाद हो रहा है। जनपद में गन्ना किसानों को औने-पौने दाम पर बिचौलियों को गन्ना बेचना पड़ रहा है। मिल के अधिकारी कर्मचारी व बिचौलिए सरकार के नेताओं के संरक्षण में है। किसानों का गन्ना खेत में होने के बाद भी पर्चियां नहीं मिल रही है। जबकि दलालों व विचौलियों द्वारा भेजी जा रही गन्ना की तौल हो जा रही है। प्रदेश सरकार ने सारे नियम कानून ताख पर रखकर जो पर्चियॉ मिलों व समितियों से मिलती थी वह पर्चियां मुख्यमंत्री के निर्देश पर आउटसोर्सिंग के आधार पर ठेका दे दिया गया। जिससे पर्ची प्राप्त करने के लिए शुल्क देना पड़ रहा है। पूर्व में बिना किसी शुल्क के मिलती थी । किसान गन्ना बोकर परेशान है। जिसके पास गन्ना है उसकी पर्ची नहीं आ रही। जिसके पास गन्ना नहीं उसको पर्ची आ रही है। पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किसानों को फायदा पहुॅचाने व आर्थिक रूप से लाभान्वित करने के लिए कम समय मे ही सठियॉव की बड़ी मिल लगाने का काम किया था लेकिन आज किसानों को उसका लाभ नहीं मिल रहा है। सरकार धान की रिकार्ड खरीदारी करने का दावा कर रही है। जबकि किसान का धान न बिकने के कारण औने-पौने दाम में बिचौलियों को बेचना पड़ा।
किसानों का चौतरफा नुकशान हो रहा है। अवारा पशु खेत के खेत चर डाल रहे हैं। इस समय गेहॅ की सिंचाई चल रही है। सोसाईटों पर यूरिया खाद नहीं मिल रही है। यूरिया खाद का दाम भी मॅहगा हो गया है। खाद की कालाबाजारी हो रही है। लेकिन सरकार मन्दिर, मस्जिद व गाय की चर्चा के अलावा कुछ नहीं कर रही है।
देश के प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि हम किसानों को उनकी लागत का दो गुना मूल्य देंगे लेकिन आज किसान बदहाली के कगार पर है। मुख्यमंत्री जी का यह कहना कि किसान गन्ना न बोये क्योंकि उससे लोगों को शूगर होता है। आखिर किसान क्या बोये। मुख्यमंत्री को दूसरी सलाह देनी चाहिए।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment