.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,
.

अल्पसंख्यक अधिकार दिवस को टीकाकरण अधिकार दिवस के रूप में आयोजित किया

विचार गोष्ठी एवं मुशायरे का भी आयोजन किया गया 

आजमगढ़ 18 दिसम्बर 2018-- जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में अल्पसंख्यक अधिकार दिवस के अवसर पर जनपद में विचार गोष्ठी एवं मुशायरे का आयोजन किया गया एवं अल्पसंख्यक अधिकार दिवस को मिजिल्स रूबेला एवं अन्य टीकाकरण अधिकार दिवस के रूप में मनाया गया। इस अवसर पर जनपद के समस्त अनुदानित एवं अन्य मदरसों के शिक्षक, प्रधानाचार्य एवं प्रबन्धकगण उपस्थित थे। अल्पसंख्यक कल्याण विभाग आजमगढ़ द्वारा इस वर्ष के अल्पसंख्यक अधिकार दिवस को टीकाकरण अधिकार दिवस के रूप में आयोजित किया गया, जिसका मुख्य उद्देश्य अल्पसंख्यक समुदाय में शासन की मंशा अनुरूप टीकाकरण अभियान को सफल बनाना है। कार्यक्रम में अपर मुख्य चिकित्साधिकारी व जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा0 संजय तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रतिनिधि डा0 गणेश आर0 नायर एवं यूनिसेफ के प्रतिनिधि डा0 परवेश मिश्रा द्वारा विचार गोष्ठी की गयी, जिसमें जनपद के मदरसों के प्रतिनिधियों को मिजिल्स रूबेला अभियान सफल बनाने हेतु आ रही समस्याओं एवं दुविधा को दूर किया गया।
जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी द्वारा इस अवसर पर अल्पसंख्यकों के अधिकार एवं शासन द्वारा उनके उत्थान के लिए चलायी जा रही योजनाओं पर प्रकाश डाला गया व उनके द्वारा जनपद के अल्पसंख्यक समुदाय से टीकाकरण अभियान को अधिक से अधिक सफल बनाने का आह्वाहन किया गया, जिसके उपरान्त जनपद के मदरसा जमीअतुल कुरैश जलान्धरी, आजमगढ़ के 10 बच्चों को मिजिल्स रूबेला का टीकाकरण कराया गया।
कार्यक्रम में मुशायरे विषय भी टीकाकरण अभियान पर केन्द्रित रहा, जिसमें कार्यक्रम के मुख्य अतिथि शायर शादाब आजमी को सम्मानित किया गया। जिनके द्वारा मिजिल्स रूबेला पर एक शेर प्रस्तुत किया गया-’’खसरा और रूबेला से यदि छुटकारा पाना है एम0एम0आर0 के टीके को बिना रोक-टोक लगवाना है, रोग मुक्त अभियान चला सरकार ने देखा सपना है, खसरा और रूबेला से ये देश मुक्त करवाना है।’’ इस अवसर पर शायर नसीम साज द्वारा खसरा रूबेला टीकाकरण पर नज्म पढ़ी गयी, जिसका मुखड़ा था- टीकाकरण जरूर कराना है आपको, खसरे की हर बला को भगाना है आपको, सरकार इस मुहिम को चलाती है इसलिए बच्चों को इस मर्ज से बचाना है आपको।
कार्यक्रम में अपर जिलाधिकारी (प्रशासन) नरेन्द्र सिंह द्वारा बताया गया कि यह अभियान पूर्ण रूप से स्वास्थ्यपरक है एवं इससे किसी प्रकार का कोई खतरा नहीं है एवं बच्चों पर इसका कोई दुष्प्रभाव नहीं है।
इस अवसर पर जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी साहित्य निष्कर्ष सिंह द्वारा बताया कि जनपद के सभी मदरसों के शिक्षकों को अभियान को सफल बनाने की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गयी है एवं इसी में अल्पसंख्यक अधिकार दिवस 2018 की सफलता है। कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद प्रस्ताव जिला अल्पसंख्यक अधिकारी द्वारा किया गया।
इस अवसर पर अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के वक्फ निरीक्षक मनोज कुमार राय, वरिष्ठ सहायक इरशाद अहमद, कम्प्यूटर आपरेटर पवन कुमार सिंह एवं विजय बहादुर यादव आदि उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment