.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

,

,

.

.
.

जिलों तक पंहुची राफेल की लड़ाई! भाजपा नेताओं ने राहुल गाँधी की लोस सदस्यता समाप्त करने की मांग की

लगातार झूठ और पीएम को अपशब्द बोल देश की छवि दुनिया में ख़राब करने का घृणित कार्य कर रहे राहुल -जयनाथ सिंह,जिलाध्यक्ष 
आजमगढ़: भारतीय जनता पार्टी जिलाध्यक्ष जयनाथ सिंह ने कहा कि राफेल खरीद समझौते के मामले में कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष व लोकसभा सांसद राहुल गांधी तथ्यहीन व अतार्किक वक्तव्य और झूठ के आधार पर ना सिर्फ देश की जनता को गुमराह तो कर ही रहे हैं और लगातार प्रधानमंत्री मा. नरेन्द्र मोदी जी को अपशब्द भी कहे रहे हैं। साथ ही देश की छवि दुनिया में ख़राब करने का घृणित कार्य करते जा रहें हैं। इस मामले पर माननीय सर्वोच्च न्यायालय में चार याचिकाएं दाखिल की गई थीं। इस याचिकाओं में निर्णय प्रक्रिया व कीमत तथा आफसेट पार्टनर को लेकर जो तीन विषय प्रमुखता से उठाये गये थे, गत 14 दिसम्बर 2018 को माननीय सर्वोच्च न्यायालय ने सभी याचिकाओं पर सुनवाई के दौरान राफेल खरीद की पूरी प्रक्रिया को पारदर्शी एवं नियमों के अनुरूप पाया है।
न्यायालय ने सभी याचिकाओं को खारिज करते हुए यह भी स्पष्ट किया कि इस समझौते पर किसी भी प्रकार का कोई भी संदेह करने का कोई भी ठोस आधार नजर नहीं आता है। न्यायालय ने साक्ष्यों के आधार पर यह भी पाया कि राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए वायुसेना को ऐसे विमानों की जरूरत है। न्यायालय ने सुनवाई के दौरान टिप्पणी करते हुए कहा कि इस प्रक्रिया को लेकर हम संतुष्ट हैं और संदेह की कोई वजह नजर नहीं आ रही है। हमें कुछ भी ऐसा नहीं मिला जिससे पता चल सके कि कोई व्यापारिक संयंत्र पर पक्षपात हुआ है।
सेना की इस महत्वपूर्ण जरुरत का विषय 2001 में सामने आया था लेकिन कांग्रेस की मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली सरकार ने इसे दस वर्षों तक लटका कर देश की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। केन्द्र में माननीय नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बनाने के बाद देश की सुरक्षा के इस महत्वपूर्ण विषय पर सकारात्मक पहल हुई तथा परदर्शी तरीके से इस प्रक्रिया को पूरा किया गया।
सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद राफेल के मामले में राहुल गांधी द्वारा बोला गया हर झूठ उजागर हुआ है और सच्चाई देश की जनता के सामने आ गया है। राहुल गांधी चुने हुए जनप्रतिनिधि हैं और वह अपने राजनैतिक हितों को साधने के लिए देश की सुरक्षा को ताक पर रखकर लगातार झूठ के आधार दुष्प्रचार कर रहे हैं और देश की छवि को दुनिया के सामने गिराने का काम कर रहे हैं। उनके इस घृणित कार्यो की तरफ महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद जी का ध्यान आकर्षित करते हुए राहुल गांधी की लोकसभा सदस्यता समाप्त करने की मांग को लेकर एक ज्ञापन माननीय जिलाधिकारी आजमगढ़ के माध्यम से बुद्धवार को सौंपा गया।
इस अवसर पर जिलाध्यक्ष जयनाथ सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष किसान मोर्चा घनश्याम पटेल , क्षेत्रिय उपाध्याय विनोद राय, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य अखिलेश मिश्रा गुड्डू, कृष्ण मुरारी विश्वकर्मा, दुर्ग विजय यादव, लक्ष्मण मौर्या, अभय दत्त, क्षेत्रिय अध्यक्ष पिछड़ा मोर्चा विनोद राजभर, प्रेम प्रकाश राय, देवेन्द्र सिंह, रामपाल सिंह, सीता चौहान, विनोद उपाध्याय, ध्रुव सिंह, ऋषि कांत राय, जगत नारायण गौड़, हरीश तिवारी, नगर अध्यक्ष विनय प्रकाश गुप्त, सतेन्द्र राय, हरिवंश मिश्रा, विवेक सिंह, दिवाकर सिंह,डा. पूनम, विभा बरनवाल, सुक्खू राम भारती, कमलेंद्र मिश्रा मोनू, पवन सिंह, मृगांक, विवेक, अवनीश, अमित, अशोक सिंह, महेन्द्र, सोनू आदि सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment