.

.

.

.

.

.

.

.
.

जन समस्याओं के निराकरण मे हुई लापरवाही तो होगी कठोर कार्यवाही -डीएम


समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों को दिए निर्देश 
आजमगढ़ 12 अप्रैल 2018 -- जिलाधिकारी शिवाकान्त द्विवेदी ने जन समस्याओं के गुणवत्तापूर्ण एवं समयबद्ध निस्तारण के निर्देश देते हुए समस्त अधिकारियों से कहा कि वे प्रतिदिन पोर्टल खोलकर आईजीआरएस के प्रकरणों का समयबद्ध निस्तारण सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि जन शिकायतों का निस्तारण शासन की प्राथमिकता है और इसकी नियमित माॅनीटरिंग भी शासन स्तर पर की जाती है। उन्होने कहा कि जन समस्याओं के निराकरण मे यदि किसी भी स्तर पर लापरवाही/शिथिलता बरती गयी तो संबंधित के विरूद्ध कठोरतम कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। उन्होने कहा कि सर्वाधिक शिकायतें राजस्व, पुलिस, आवास, खाद्यान, शौचालय आदि की होती है, अतः संबंधित अधिकारी इस पर विशेष ध्यान देकर निस्तारित करें तथा निस्तारण आख्या मे स्पष्ट रूप से जांचकर्ता के नाम/पदनाम का उल्लेख हो। उन्होने यह भी कहा कि यदि जन शिकायतों का निस्तारण प्राथमिक स्तर पर ही कर दिया जाए तो आवेदक को जिले स्तर एवं उच्च स्तर पर नही जाना पड़ेगा, इसलिए उनकी समस्याओं का निस्तारण प्राथमिक स्तर पर कर दिया जाए ताकि उन्हे भाग दौड़कर सामना न करना पड़े।
उक्त निर्देश जिलाधिकारी ने कलेक्ट्रेट सभागार मे आयोजित विकास कार्यक्रमों की मासिक समीक्षा बैठक करते हुए दिये। इस अवसर पर उन्होने कहा कि शासन द्वारा योजनाएं जनहित मे संचालित की जाती हैं और उसका क्रियान्वयन अधिकारीगण पूरी पारदर्शिता के साथ कर पात्र व्यक्ति को लाभान्वित करें। उन्होने जन जागरूकता के दृष्टिकोण से योजनाओं के व्यापक प्रचार-प्रसार पर बल देते हुए कहा कि योजना का क्रियान्वयन पूरी निष्ठा, लगन एवं ईमानदारी के साथ किया जाए। जिलाधिकारी ने इस अवसर यह भी निर्देश दिये कि पेंशनर्स जो 70 वर्ष के नीचे हैं और बैंक मे उनके नाम का खाता हो उन्हे प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत आक्षादित किया जाए। उन्होने डीएसओ/डीडीओ को निर्देश दिये कि एक अभियान के तहत 3 दिन के अन्दर बीमा का फार्म भरवाया जाए और प्रतिदिन कम से कम 500 फार्म भरवाये जायें, इस प्रकार जनपद के कुल 1871 ग्राम पंचायतों के कुल लगभग 11 लाख पेंशनरों को इसके तहत आक्षादित किया जा सकता है। यह योजना गरीब व्यक्तियों के लिए काफी लाभकारी है और इसके तहत रू0 2 लाख का बीमा होता है जो एक्सीडेन्टल डेथ होने पर प्राप्त होता है। उन्होने यह भी कहा कि जिनके पास एकाउन्ट नम्बर नही है उनका खाता खोलवाकर भी आक्षादित करना है।
स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने चिकित्सकों की उपस्थिति, दवावों की उपलब्धता, साफ-सफाई, मरीजों के बेहतर ईलाज आदि के निर्देश देते हुए कहा कि जननी सुरक्षा योजना के तहत लाभार्थी को प्रसव के बाद त्वरित भुगतान किया जाए। उन्होने आशाओं के भुगतान मे विलम्ब न करने के निर्देश दिये। श्री द्विवेदी ने लक्षित बच्चों का शत प्रतिशत टीका करने के निर्देश दिये। उन्होने 14वें वित्त के तहत कराये गये कार्याें के सत्यापन तथा व्यय धनराशि का ग्राम पंचायत/क्षेत्र पंचायत वार उपयोगिता प्रमाण-पत्र प्रस्तुत करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को देते हुए कहा कि पेंशन के लाभार्थियों की सूची का सत्यापन कराया जाए।
इस अवसर पर ंिजलाधिकारी ने बताया कि ग्राम स्वराज अभियान के अन्तर्गत 14 अप्रैल से 15 मई तक विशेष अभियान चलाकर सबका साथ सबका गांव सबका विकास के अधीन भारत सरकार के 7 कार्यक्रमों जिसमे प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, सौभाग्य (प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना), उजाला स्कीम, प्रधानमंत्री जन धन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्याती बीमा योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना तथा इन्द्रधनुष योजना से कुल 118 गांवों को शत प्रतिशत आक्षादित करना है तथा प्रतिदिन की सूचना पोर्टल पर भेजनी है। उन्होने यह भी बताया कि इसके साथ ही राज्य सरकार की 16 योजनाओं से भी इन गांवो को शत प्रतिशत संतृप्त करना है। जिलाधिकारी ने 13 अप्रैल तक इसकी कार्य योजना उपलब्ध कराने के निर्देश देते हुए यह भी बताया कि हर ब्लाक मे एक गांव का चयन करना है, जो एससी/एसटी बाहुल्य हों और इन गांवो को भी सभी योजनाओं से संतृप्त करना है। श्री द्विवेदी ने बताया कि 14 अप्रैल से 15 मई तक संचालित अभियान मे विशेष दिवस भी आयोजित होगा। जिलाधिकारी ने उपरोक्त गांवो को ओडीएफ करने के निर्देश दिये।
जिलाधिकारी ने निर्माण कार्याें की समीक्षा के दौरान कार्य की गुणवत्ता, समयबद्धता एवं पारदर्शिता पर विशेष बल देते हुए कहा कि निर्माण एजेन्सी जो कार्य पूर्ण हो गये हो उसे संबंधित को हस्तगत करा दें। उन्होने पूर्ण कार्यांे के सत्यापन पर जोर देते हुए कहा कि यदि कार्य मानक विपरीत पाये जाएं तो संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही भी सुनिश्चित की जाए।
बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक सिंह, परियोजना निदेशक डीडी शुक्ल, डीडीओ विजय कुमार, उपायुक्त स्वतः रोजगार वीके मोहन, सूचना अधिकारी अंजनी कुमार मिश्र, उप कृषि निदेशक आरके मौर्य, डीएसओ देवमणी मिश्र, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी वीके सिंह सहित विभिन्न विभागों के संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment