.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

दलित और पिछड़े वर्ग के युवकों के रोजगार हेतु विशेष प्रशिक्षण

आजमगढ़::  अनुसूचित जाति, अनुसूचित जाति व पिछड़े वर्ग के बेरोजगार युवकों रोजगार से जोड़ने के लिए क्षेत्रीय सेवायोजन विभाग द्वारा एक साल का प्रशिक्षण दिया जायेगा। प्रशिक्षक के लिए नया सत्र एक अप्रैल से शुरू होगा। इस योजना के तहत 18 से 35 साल तक के लोग प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे। सहायक निदेशक सेवायोजन वीके सिंह ने बताया है कि राज्य सरकार द्वारा संचालित अनुसूचति जाति/अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़े वर्ग के शिक्षित बेरोजगार अभ्यर्थियों को रोजगार से जोड़ने के लिये योजना चलाई जा रही है। इसके तहत क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय, से सम्बद्ध ‘‘शिक्षण एवं मार्गदर्शन केन्द्र’’ (कार्यालय प्रबन्ध प्रशिक्षण) के अन्तर्गत हिन्दी टंकण, हिन्दी आशुलिपि, कम्प्यूटर प्रशिक्षण के साथ-साथ सामान्य ज्ञान, सामान्य अंग्रजी, सामान्य हिन्दी, सचिवीय पद्धति, बंककीपिंग एवं एकाउन्टेन्सी, सामान्य गणित तथा साक्षात्कार तकनीक आदि विषयों का एक वर्षीय निःशुल्क प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसका आगामी सत्र 1 अप्रैल 2018 से प्रारम्भ होकर 31 मार्च 2019 को समाप्त होगा। प्र्रवेश हेतु न्यूनतम शैक्षिक योग्यता इन्टरमीडिएट तथा हाईस्कूल अंग्रजी विषय के साथ उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। उन्होंने बताया है कि पात्र एवं इच्छुक अभ्यर्थी/अभ्यर्थिनी जिनकी आयु 1 अप्रैल 2018 को 18 वर्ष से 35 वर्ष के बीच हो (आयु में छूट नियमानुसार देय होगी) अपना आवेदन पत्र निर्धारित प्रारूप पर 26 मार्च 2018 तक क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय, संयुक्त विकास भवन के शिक्षण एवं मार्गदर्शन केन्द्र कक्ष सं- 34 में जमा कर सकते है। चयन हेतु साक्षात्कार 28 मार्च 2018 को अनुसूचित जाति/जनजाति तथा पिछड़े वर्ग के अभ्यर्थियों का साक्षात्कार होगा। साक्षात्कार के लिए अभ्यर्थियों को पूर्वाह्न 11.30 बजे तक कार्यालय पहुंचना अनिवार्य होगा। 


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment