.

.

.

.
.

हमें अपनी माटी का मोल समझना होगा तब दूसरे इसे अनमोल समझेंगे- डॉक्टर सूर्य कुमार सिंह

आज़मगढ़:: आज़मगढ़ जनपद के सोनापुर गांव के मूल निवासी एवं ब्रिटिश स्टील यूनाइटेड किंगडम के बिजनेस डेवलपमेंट निदेशक डॉक्टर सूर्य कुमार सिंह ने शुक्रवार को पी डब्लू डी अतिथि गृह में प्रेस वार्ता की। डॉ सिंह इंपीरियल कॉलेज लंदन के अकादमिक विजिटर भी हैं एवं पिछले 22 वर्षों से लंदन में विभिन्न कंपनियों में उच्च पद पर कार्यरत रहे।
प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रारंभ की गई एक जिला एक उत्पाद योजना से परंपरागत उद्योगों को नई ऊर्जा मिली है। परंपरागत उद्योगों के संरक्षण व विकास के लिए हमें आगे आना होगा। आजमगढ़ जनपद का प्रसिद्ध ब्लैक पॉटरी उद्योग का विकास हो और इसके उत्पाद पूरे विश्व में पहुंचे इसके लिए पूरे जनपद वासियों की जिम्मेदारी बनती है अगर हम अपने जनपद में बने उत्पादों को खरीदेंगे तो धीरे-धीरे बड़ा परिवर्तन आएगा। हमें अपनी माटी का मोल समझना होगा तब दूसरे इसे अनमोल समझेंगे। उन्होंने कहा कि चाइना की पॉटरी पूरे विश्व में पहुंच सकती है तो निजामाबाद का मिट्टी के बर्तन क्यों नहीं पहुंच सकते इसके लिए संगठित रूप में प्रयास करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि यहां के उत्पादों को अगर सही तरीके से प्रमोट किया जाए और उसका सही दाम मिले तो निश्चित तौर पर इससे जुड़े कारीगरों के जिंदगी में एक नया उजाला आएगा। पैकेजिंग की सुविधा के सवाल पर उन्होंने कहा कि भारत में पैकेजिंग की हर सुविधा उपलब्ध है उसे निजामाबाद के लोगों को उपलब्ध कराना होगा। जब भारत से अल्फांसो आम विदेशों में पहुंच सकता है तो मिट्टी के बने बर्तन सात समंदर पार क्यों नहीं पहुंच सकते। आज बहुत सारे ट्रेडिंग हाउस हैं जो इस तरह के उत्पादों को बड़े बड़े मॉल और अन्य स्थानों पर बेच रहे हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से अपील की कि जनपद मुख्यालय पर ब्लैक पॉटरी की बिक्री के लिए कुंभकारों को निशुल्क दुकानें उपलब्ध कराएं।
उन्होंने कहा कि आजमगढ़ के ब्लैक पॉटरी के विकास और विदेशों तक पहुँचाने के लिए अपने स्तर पर विश्व के विभिन्न देशों के एक्सपोर्टर्स से बात करेंगे। उन्होंने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के युवाओं में बहुत ऊर्जा है लेकिन स्वरोजगार के तरफ उनका रुझान ना होने से बेरोजगारी बढ़ रही है आने वाले समय में स्वरोजगार ही हमें समृद्ध करेगा। पर्यावरण के मुद्दे पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि आज शहरों से निकलने वाले कूड़े कचरे बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं विदेशों में वेस्ट मैनेजमेंट पर बड़ा काम हो रहा है कूड़े को रीसाइक्लिंग कर आय किया जा रहा है। भारत में भी कई जगहों पर रीसाइक्लिंग की व्यवस्था है छोटे-छोटे शहरों में भी ऐसी व्यवस्था बनानी होगी। 




Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment