.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

कैफ़ी आजमी के गाँव मेजवां में डीएम ने लगाई चौपाल,लोगों को किया जागरूक





आजमगढ़ --जिलाधिकारी चन्द भूषण सिंह ने अपने शीतकालीन भ्रमण के दौरान आज तहसील फूलपुर के ग्राम मेजवां में कैफी आजमी कन्या इण्टर कालेज में चौपाल लगाकर शासन द्वारा संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं का स्थलीय सत्यापन किया तथा ग्रामीणों से उनकी समस्याओं की जानकारी प्राप्त करते हुए उसके त्वरित निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारीयों दिये।
इस अवसर पर विश्व बालिका दिवस के उपलक्ष्य में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया तथा कन्या भ्रूण हत्या विषयक निबन्ध प्रतियोगिता में विजयी प्रतिभागियों में जिलाधिकारी ने प्रीति भारती को प्रथम, रागिनी यादव को द्वितीय व मीनाक्षी गुप्ता को तृतीय पुरस्कार दिया तथा शेष छात्राओं को संत्वना पुरस्कार भी दिया गया। निबन्ध प्रतियोगिता में 29 छात्राओं द्वारा प्रतिभाग किया गया था। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में जिलाधिकारी ने कहा कि यह एक एतिहासिक गांव है और यह जनपद का प्रथम गांव है जो ओडीएफ हो चुका है। उन्होने जनपद के अन्य गांवों को भी इसका अनुसरण करने को कहा तथा यह भी कहा कि स्वच्छ शौचालय निर्माण हेतु शासन द्वारा रू0 12 हजार की धनराशि मुहैया करायी जाती है। उन्होने कहा कि प्रत्येक गांव खुले में शौच मुक्त होना चाहिए। क्योंकि बीमारियों का प्रमुख कारण गन्दगी होता है। जिलाधिकारी ने कहा कि गांवों के विकास हेतु शासन द्वारा अनेक जन कल्याणी योजनाएं संचालित की गयी है। उन्होने शिक्षा एवं स्वास्थ्य की चर्चा करते हुए कहा कि अभिभावक अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजे और शासन द्वारा निःशुल्क शिक्षा, मध्यान्ह भोजन, यूनिफार्म, बैग, जुता मोजा आदि उपलब्ध कराया जा रहा है। आवश्यकता है कि बच्चें स्कूल जाये और शिक्षा ग्रहण करे। जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य पर चर्चा करते हुए कहा कि बच्चों की स्वास्थ्य की जिम्मेदारी विशेषतः माॅ की होती है। उन्होने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण निरन्तर चलाया जा रहा है। जिससे अनेक बीमारियों पर नियन्त्रण पाया जा सकता है। उन्होने कहा कि पोलियो जैसी भयावह बीमारी को टीकाकरण के माध्यम से समुल नष्ट कर दिया गया है। कुपोषण के सम्बन्ध मंे जिलाधिकारी ने कहा कि स्वस्थ बच्चे का शारिरिक एवं मानसिक विकास होता है। शासन की योजना है कि गर्भवती महिला का परीक्षण कराया जाय, पोषण उपलब्ध कराया जाय ताकि बच्चा स्वस्थ्य हो तथा कुपोषण से बचें। उन्होने बताया कि माह के 5, 15 एवं 25 को गर्भवती महिला, धात्री महिला को पुष्टाहार बितरित किया जाता है और यह पुष्टाहार धात्री महिला को 6 माह तक मिलता है। उन्होने कहा कि बच्चा स्वस्थ्य हो, शिक्षित हो तो परिवार को निरन्तर विकास की तरफ अग्रसर करता है। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने विद्युत विभाग को निर्देश दिए कि एक सप्ताह के अन्दर विद्युतीकरण के अधुरे कार्यो को पूर्ण करा दे तथा डीओपीआरडी को निर्देश दिए कि यहां बच्चों के खेलकूद की सामग्री प्रमुखता के आधार पर उपलब्ध करा दे। उन्होने तालाब के सौन्दर्यीकरण, साफ-सफाई आदि पर विशेष जोर दिया। इसके अतिरिक्त खाद्यान्न बितरण पूरी परदर्शिता के साथ तथा समय से करने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अभिषेक सिंह, उप जिलाधिकारी अनिल कुमार सिंह सहित विभिन्न विभागों के सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे। 


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment