.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

शिक्षकों ने मंडलायुक्त से मिल 10 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन सौंपा

आजमगढ़ : डीआईओएस के भ्रष्ट कार्यों की जांच कराए जाने व उन्हें हटाने की मांग को लेकर शिक्षकों में आक्रोश बढ़ता जा रहा है। आक्रोशित शिक्षकों ने शुक्रवार को दस सूत्रीय मांगों को लेकर मंडलायुक्त को ज्ञापन सौपा। कार्रवाई न होने पर शिक्षकों ने धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी है।
उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष शैलेश राय के नेतृत्व में शिक्षकों का दस सदस्यीय प्रतिनिधि मंडल शुक्रवार को मंडलायुक्त से उनके कार्यालय पर मिला। मंडलायुक्त को दस सूत्रीय मांगों का ज्ञापन देते हुए प्रतिनिधि मंडल ने जिला विद्यालय निरीक्षक के भ्रष्ट कार्यों की उच्च स्तरीय जांच कराने व उन्हें तत्काल हटाए जाने की मांग की। शिक्षकों ने मांगें पूरी न होने पर 29 जनवरी से जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर धरना प्रदर्शन की चेतावनी दी।
संघ के जिलाध्यक्ष शैलेश राय ने आरोप लगाया कि जिला विद्यालय निरीक्षक अपने चहेते भ्रष्ट बाबूओं के माध्यम से न केवल धनार्जन कर रहे हैं बल्कि शिक्षक विरोधी हरकतों में भी लगे हुए हैं। इसलिए बोर्ड की परीक्षा से पहले उन्हें जनहित में हटाना जरूरी है। मंडल अध्यक्ष शेषनाथ मिश्र व जिलामंत्री बालकेश दूबे ने परीक्षा के निर्धारण के संबंध में साक्ष्यों सहित गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि जो 29 विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बनाए गए हैं उसकी विश्वनियता की तत्काल जांच करायी जाए। उन्होंने जेडी और डीआईओएस कार्यालय में तैनात बाबूओं पर भी भ्रष्टाचार का आरोप लगाया।
शैलेश राय ने बताया कि मंडलायुक्त ने प्रतिनिधि मंडल की बातों को सुनने के बाद आश्वस्त किया की उनके आरोपों की उच्च स्तरीय जांच करायी जाएगी। प्रतिनिधि मंडल में आशुतोष सिंह, सुनील राय, चन्द्रशेखर राय, अवध बिहारी सिंह, अजीत सिंह, अभय श्रीवास्तव, रजनीश सिंह समेत अन्य लोग शामिल रहें। 

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment