.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

जेल पर धमके डीआईजी जेल व एसपी,विभिन्न पहलुओं पर की जांच

आजमगढ़। सिधारी थाना क्षेत्र के इटौरा स्थित नवीन जेल पर हाई सिक्योरिटी जोन जेल लाइन में बने सरकारी आवास में घुसकर बंदी रक्षक को गोली मारने की दुस्साहसिक घटना के मामले में पुलिस अधीक्षक अजय कुमार साहनी खुद ही निगरानी कर रहे हैं । लगातार दूसरे दिन भी एसपी ने जेल का निरीक्षण किया। मंगलवार को जेल निरीक्षण में कुछ मोबाइल भी बरामद हुआ था। बुधवार को डीजाईजी जेल गोरखपुर यादवेन्द्र शुक्ला व एसपी अजय कुमार साहनी करीब 12 बजे जेल पहुंचे और जेल में लगे सीसी कमरों का फुटेज को चेक किया। साथ ही एसपी ने जेल कर्मियों से गहन पूछताछ किया। जेल में लगभग साढे तीन घटें चले चेकिंग अभियान से हड़कंप मचा रहा। बतादे कि सोमवार की रात साढे आठ बजे सिधारी थाना क्षेत्र के नवीन जेल इटौरा के ठीक सामने बने जेल लाइन में बाइक सवार बदमाशों ने सरकारी आवास में घुसकर बंदीरक्षक कौशांबी जिला निवासी 30 वर्षीय मानसिंह को गोली मार दी थी। बंदी रक्षक मानसिंह की हालत निजी अस्पताल के आईसीयू में स्थिर बनी हुई है। वही सूत्रों की माने तो पुलिस को इस मामले में अहम सुराग हाथ लगे है। आज जेल में कार्यवाही के दौरान एसपी के साथ एसपी आरए नरेन्द्र प्रताप सिंह,एसपी सिटी सुबाष चन्द्र गंगवार,सीआें सिटी सचिदान्नद सहित कई थानाध्यक्ष मौजूद रहे।
इस दौरान डीआईजी जेल ने बताया की शीघ्र ही जेल में जैमर चालु करा दिया जायेगा। गौरतलब है की इस नवनिर्मित हाईसक्योरिटी जेल से बीत वर्ष 2016 में अगस्त माह 17 तारिख की देर रात को तीन कैदी भाग गए थे। इसके बाद वहां पर जेल से मोबाइल बातचीत होने की कई बातें सामने आईं। कई लाख रुपये का जैमर मशीन आ तो गया और लग भी गया लेकिन अब तक उसे चालू नहीं किया जा सका। जेल में लंबे समय से मोबाइल पर बातचीत की बातें सामने आ रही हैं यदि ऐसा नही होता तो एसपी ने जेल का औचक निरीक्षण किया था तो लगभग 18 मोबाइल फोन बरामद हुआ था। अगर जैमर चालू हो जाता तो जेल से अपराधियों का बात चीत करना बंद हो जाता। इस सबंध में पूछे जाने पर डीआईजी जेल गोरखपुर यादवेन्द्र शुक्ला ने बताया कि जैमर को चालू करने के लिए आईजी जेल को पत्र भेजा गया है और इसे जल्द ही चालू कराया जायेगा।वहीँ मंडल करागार में स्टाफ की कमियों को देखते हुए डीआइजी जेल गोरखपुर यादवेन्द्र शुक्ला ने बताया कि जेल की सुरक्षा को देखते हुए और स्टाफ की कमियों को दूर करने के लिए आईजी जेल को पत्र भेज दिया गया है। जल्द ही सुरक्षा का कड़ा प्रबंध होगा। श्रीशुक्ला ने यह भी बताया कि जिला प्रशासन को पत्र देकर जेल पर होमगार्डो की तैनाती कराने की बात कही है । इस सबंध में मोबाइल मिलने की बात पूछने पर डीआईजी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है जांच की जा रही है जो भी दोषी पाया जायेगा उसके विरूद्व सख्त कार्रवाई की जायेगी जांच जारी है। वैसे पुलिस अधीक्षक अजय साहनी द्वारा गठित टीमे मंगलवार/बुधवार की सुबह से ही लगातार संदिग्ध ठिकानों पर छापेमारी कर रही है। पुलिस टीम लगातार अपने अपने क्षेत्रों में वाहन चेकिंग व धड़पकड़ अभियान देर रात तक करती रही। फिलहाल अभी तक पुलिस को कोई कामयाबी हासिल नही हुई थी छापेमारी जारी रहा।


Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment