.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

लाखों रूपये डूबने का सदमा बर्दाश्‍त नहीं कर सकती महिला, थम गई सांस

आजमगढ़:  नेशनल हाइवे में गई जमीन के एवज में मिले लाखों रूपये धोखे से कुछ लोगों द्वारा हड़प लेने का सदमा 70 वर्षीय वृद्धा बर्दाश्‍त नहीं कर सकी और उसकी मौत हो गयी। घटना सिधारी थाना क्षेत्र के खोजापुर गांव की है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। खोजापुर ग्राम निवासी 70 वर्षीय मनरी देवी पत्नी स्व. संतराज की भूमि फोरलेन सड़क निर्माण के लिए अधिग्रहित कर ली गई थी। मुआवजे के रुप में मनरी देवी को 13 लाख 22 हजार रुपये मिले थे। धन मिलने की जानकारी होने पर गांव के ही सुशील पुत्र फूलचंद सहित अन्य कई लोगों ने मनरी देवी के पुत्र ओमप्रकाश को 66 माह में जमा धन दोगुना करने का लालच देकर बैंक में जमा कराने की सलाह दी।
उनकी बातों में आकर मनरी देवी ने 12 लाख रुपए उनके हवाले कर दिए। धन प्राप्‍त करने के बाद उक्‍त लोगों ने धन बैंक में जमा नहीं किया। इस बात कीजानकारी पीड़ित पक्ष को तब हुई जब वह जमा धन से संबंधित कागजात न मिलने पर जांच पड़ताल शुरू किये। मृतका के पुत्र का आरोप है कि हकीकत पता चलने के बाद उन्‍होंने अपना धन वापस मांगा तो विपक्षियों ने जान से मारने की धमकी दी। इस मामले में सुशील, फूलचंद व उसकी पत्नी तथा मां के साथ ही 8 लोगों के खिलाफ सिधारी थाने में हाल ही में धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई  गयी है।
लाखों रूपया डूबने का सदमा मंजरी देवी बर्दाश्‍त नहीं कर सकी और उसे हार्ट अटैक आ गया । गंभीर हालत देख परिजनों ने उसे शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहाँ रविवार को हृदयाघात से पीड़ित वृद्धा ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। घटना की सूचना मृतका के पुत्र ने सिधारी थाने को दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment