.

.

.

.

.

.
.

चिल्ड्रेन ग्रामर स्कूल का हुआ शुभारम्भ :: शुद्ध भाषाज्ञान महत्वपूर्ण- डॉ. मुनीर

आजमगढ़। आल इण्डिया चिल्ड्रन  केयर एण्ड एजुकेशनल डेवलमेन्ट सोसायटी द्वारा नगर के चिल्ड्रन हायर सेकेण्ड्री स्कूल परिसर में स्थापित चिल्ड्रन ग्रामर स्कूल का रविवार को शुभारम्भ हुआ। उद्घाटन समारोह की अध्यक्षता शिक्षाविद डॉ. दीनानाथ लाल श्रीवास्तव ने किया। स्कूल के प्राचार्य रामाशीष उपाध्याय ने बताया कि पूर्वांचल के विद्यार्थियों को सुदृढ़ भाषायी आधार प्रदान करने, उनकी भाषा को शुद्ध ,परिपक्व, परिष्कृत, तेजस्वी व ओज पूर्ण बनाने के लिए चिल्ड्रेन ग्रामर स्कूल की स्थापना की गयी है। जिसमें हिन्दी अंग्रेजी दोनों भाषा के व्यापकरण का ज्ञान कक्षा शिक्षण एवं डिजीटल लैंग्वेज लैब के माध्यम से प्रदान की जायेगी। मुख्य अतिथि डॉ. मुनीर ने शुद्ध भाषा ज्ञान को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि व्याकरण का विद्यार्थियों में सुदृढ़ज्ञान होना आवश्यक है। व्याकरण के बगैर भाषा प्रभावशाली नहीं रह जाती है। विशिष्ट अतिथि डॉ. आलमगीर ने शुद्ध भाषा के लिए व्याकरण ज्ञान दिये जाने पर बल दिया। अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में शिक्षाविद डॉ. दीनानाथ लाल श्रीवास्तव ने कहा कि व्याकरण ज्ञान के अभाव में विद्यार्थी शुद्ध लेखन व वाचन में विफल रहते है जो उनकी शैक्षिक विकास में बड़ी बाधा होती है। प्रबन्धक बजरंग त्रिपाठी ने बताया शुद्ध भाषा का प्रयोग करने में असमर्थ अधिकांश विद्यार्थी सही बात को उचित ढंग से न रख पाने के कारण प्रतियोगी परीक्षाओं व साक्षात्कार में असफल हो जाते हैं। उन्होंने कहा कि यह ग्रामर स्कूल विद्यार्थियों की भाषा का परिमार्जन करते हुए उनके अभिव्यक्ति की क्षमता वृद्धि में सहायक साबित होगा। नियति त्रिपाठी ने स्वागत भाषण किया तथा प्राचार्य रामाशीष उपाध्याय ने आभार प्रकट किया। कार्यक्रम में डॉ कृष्ण मोहन त्रिपाठी, रीता राठौर, सुरेन्द्र प्रसाद शुक्ल, पवन कुमार सिंह, प्रमोद कुमार यादव आदि सहित विद्यालय के विद्यार्थी, शिक्षक शिक्षिकाएं तथा अनेक गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment