.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

मुख्य विकास अधिकारी ने अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय का औचक निरीक्षण किया

आज़मगढ़ 31 मई 2016-- मुख्य विकास अधिकारी महेन्द्र वर्मा ने आज अल्पसंख्यक कल्याण कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के समय जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी लालमन, वरिष्ठ लिपिक सरफराज अहमद, पत्र वाहक मु0 शमीम, वाहन चालक लक्ष्मीकान्त तिवारी, संविदा कम्प्यूटर आपरेटर शफीकुर्रहमान एवं पवन सिंह उपस्थित पाये गये। कार्यालय किराये के भवन में चल रहा है जिसका किराया 12000 रू0 प्रतिमाह उन्होने अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देशित करते हुए कहा कि नवनिर्मित कलेक्ट्रेट भवन में अपना कार्यालय शिफ्ट करने के लिए प्रस्ताव सक्षम अधिकारी को प्रस्तुत करें। वक्फ बोर्ड की आलमारी उन्होने देखा। आलमारी में रखे अभिलेख अस्त-व्यस्त पाये गये, गार्ड पंजिका को देखा। जिसमें शासन और जिला स्तर से निर्गत महत्वपूर्ण निर्देशों से सम्बन्धित कार्यालय में गार्ड पंजिका बनायी गयी है। लेकिन शासन व जिलास्तर पर एक ही गार्ड पंजिका है। उन्होने निर्देशित किया कि शासन एवं जिला स्तर से प्राप्त निर्देशों का अलग-अलग गार्ड फाइल बनाना सुनिश्चित करें। भ्रमण पंजिका एवं जन सुनवाई पंजिका नही बनायी गयी है। उन्होने बनाने का निर्देश दिया। जॉब चार्ट कार्यालय में नही टगां है टांगने का निर्देश दिया। कब्रिस्तान एवं अन्तेष्ठि स्थल की बाउन्ड्री वाल योजना अन्तर्गत प्रगति विवरण का अवलोकन किया। जिसमेंं पाया गया वर्ष 2013-14 में प्राप्त सम्पूर्ण बजट कार्यदायी संस्था परियोजना प्रबन्धक सीएण्डडीएस को उपलब्घ करा दिया गया। जिसमें 56 कार्यो के सापेक्ष 46 कार्य पूर्ण दिखाये गये है। कार्य सन्तोषजनक नही है। वर्ष 2014-15 में 42 कार्यो का कार्य निर्माणाधीन है। वर्ष 2015-16 में 34 कार्य अभी तक अनारम्भ है। जिस पर  उन्होने खेद व्यक्त करते हुए परियोजना प्रबन्धक सीएण्डडीएस को निर्देशित किया कि अपूर्ण कार्यो को पूर्ण कराते हुए एक पक्ष के अन्दर अपनी रिर्पोट प्रस्तुत करें। तथा विलम्ब के लिए अपना स्पष्टीकरण भी देना सुनिश्चित करें। पूर्व दशम छात्रवृत्ति योजनान्तर्गत 9 एवं 10 में अध्ययनरत कुल 26 विद्यालयों के 912 छात्रों द्वारा आवेदन किया गया था जिसमें मात्र 88 छात्र/छात्राओं का डाटा पीएफएम सर्वर पर ही सही पाया गया। जिससें उन्ही छात्र/छात्राओं को धनराशि  हस्तांतरित की गयी है  । इस प्रकार दशमोत्तर छात्रवृत्ति में 307 विद्यालयों के 7405 छात्र/छात्राओं द्वारा आवेदन किया गया था जिसमें से 3474 छात्र/छात्राओं का डाटा सही  पाया गया। इन्ही छात्र/छात्राओं को धनराशि अन्तरित हुई।
मुख्य विकास अधिकारी ने अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी को निर्देशित करते हए कहा कि सभी संदेहास्पद पाये गये छात्रों के डाटा की जांच जनपद स्तरीय अधिकारियां की टीम बनाकर कराना सुनिश्चित करें। तथा सही पाये गये छात्रों के डेटा को बेबसाइट पर अपलोड करना सुनिश्चित करें। उन्होने बताया कि  अल्पसंख्यक समुदाय के अभिभावकों के पुत्रियों की शादी हेतु वर्ष 2015-16 में 103 लाभार्थियों को रू0 10,30,000=00 वितरित किया गया है। अवगत कराया गया कि कोई भी आवेदक लाभ पाने से वंचित नहीं रह गया है।
उन्होने बताया कि मल्टी सेक्टोरल डेवलपमेन्ट प्लान के अन्तर्गत विकास खण्ड सठियांव में एक उपकेन्द्र रू0 09.30 लाख लागत का निर्माणधीन है, जिसकी द्वितीय किस्त रू0 04.65 लाख भारत सरकार से प्राप्त होनी है। उपयोगिता प्रमाण पत्र एवं अन्य संगत अभिलेख जिलाधिकारी महोदय के प्रतिहस्ताक्षर से माह मई, 2015 में जनपद से प्रेषित कर दिया गया है, अभी तक धनराशि प्राप्त नहीं हुई है। जनपद में ही योजनान्तर्गत 05 इन्टर कालेज के निर्माण की स्वीकृति एवं प्रथम किस्त की धनराशि रू0 799.86 लाख दिनांक 31 मार्च 2016 को कार्यदायी संस्था सी0एण्डडी0एस के पक्ष में जारी करने हेतु आदेश निदेशालय द्वारा निर्गत कर दिये गये है परन्तु परियोजना प्रबन्धक सी0 एण्ड डी0 एस0 इकाई, आजमगढ़ के बैक खाते में धनराशि अन्तरित नहीं है, जिससे कार्य प्रारम्भ नहीं हो पा रहा है।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment