.

.

.

.

.

.

.

.

.

.
.

बलिया : गायब बीडीसी सदस्य एसपी ऑफिस पहुंचा

बलिया: फेफना थाना क्षेत्र के इन्दरपुर से अपहृत बीडीसी सदस्य जितेंद्र कुमार रजक बुधवार को अचानक पुलिस अधीक्षक कार्यालय पर आ धमका। इसी के साथ चार दिन से उसके अपहरण को लेकर चल रहा बवाल भी थम गया और पुलिस ने भी राहत की सांस ली है। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि उसका अपहरण हुआ था या अपनी मर्जी से गया था। पुलिस अधीक्षक अनीस अहमद अन्सारी ने एसओ फेफना श्याम जी यादव की मौजूदगी में बीडीसी सदस्य से घंटों पूछताछ की। 23 जनवरी की शाम को ¨दव्याग बीडीसी के भाई ने फेफना थाने में तहरीर दी थी कि संभावित ब्लाक प्रमुख प्रत्याशी संजय तिवारी के समर्थक उसके भाई को जबरन उठा ले गए हैं। इस पर पुलिस ने प्रत्याशी समेत तीन लोगों पर मुकदमा कायम कर लिया था। अपहृत बीडीसी की सकुशल बरामदगी के लिए पुलिस लगातार दबाव बना रही थी। इसी बीच पुलिस अधीक्षक के सामने बीडीसी सदस्य ने शपथ पत्र के साथ उपस्थित होकर अपने गांव के नरेंद्र ¨सह, नरेंद्र चौधरी व मुबारकपुर के विक्की राय पर अपहरण का आरोप लगाते हुए प्रार्थना पत्र दिया। शपथ पत्र में उसने आरोप लगाया है कि नागा चौधरी के इशारे पर उसका अपहरण कराया गया था। बीडीसी सदस्य ने सुरक्षा की भी मांग की है। एसओ श्याम जी यादव ने बताया कि फिलहाल मामले की जांच चल रही है। बीडीसी सदस्य द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र व उसके भाई द्वारा दर्ज कराए गए मुकदमें में काफी अंतर आ रहा है। जांच के बाद दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
आखिर कहां रहा चार दिन
अपहृत ¨दव्याग बीडीसी सदस्य आखिर चार दिन कहां रहा। अपहरण की घटना के दिन से ही पुलिस इसको लेकर काफी गम्भीर रही। पुलिस यह दावा जरूर कर रही है कि उसके दबाव में वह सुरक्षित आ गया लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया कि वह इतने दिन कहां रहा। यह चर्चा आम जनता के भी बीच रही।
Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment