.

.

.

.
.

आजमगढ़ पब्लिक स्कूल में बुजुर्गों के सम्मान में मनाया गया ‘ग्रैंडपेरेंट्स-डे’


दादा-दादी इस पृथ्वी पर ईश्वर का दिया हुआ सबसे अमूल्य उपहार- मोहम्मद नोमान,प्रबंधक

विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेता रहे दादा- दादी हुए पुरुस्कृत

आजमगढ़: रानी की सराय के पास स्थित आजमगढ़ पब्लिक स्कूल में कक्षा नर्सरी से सेकंड तक के छात्रों के दादा-दादी के प्यार और विशेष सम्मान में “ग्रैंड’ पेरेंट्स-डे” (दादा-दादी अभिभावक दिवस) का आयोजन किया गया। विद्यालय के प्रबंधक मो0 नोमान, प्रधानाचार्या रुपल पाण्ड्या एवं उपप्रधानाचार्या रूनाखान ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस दौरान छात्रों ने स्वागत गीत गाकर कार्यक्रम को आगे बढ़ाया, ततपश्चात कक्षा सेकंड के छात्रों के द्वारा “दादी अम्मा, दादी अम्मा मान जाओ ना” गीत ने उपस्थित सभी अभिभावकों का मोह लिया, इसके साथ भाषण, नृत्य की प्रस्तुति के द्वारा दादा-दादी और नाना-नानी के महत्व को बताया जो काफी सराहनीय रही, तत्पश्चात विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें विनर रहे दादा- दादी को पुरस्कृत भी किया गया।
विद्यालय के प्रबंधक मोहम्मद नोमान ने उपस्थित लोगों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि दादा-दादी इस पृथ्वी पर ईश्वर का दिया हुआ सबसे अमूल्य उपहार है, जो अनेक कष्ट उठाकर भी अपने बच्चों को दुनिया की हर खुशी प्रदान करते हैं, इसलिए हम सभी को उनका सदैव सम्मान करना चाहिए।
विद्यालय की प्रधानाचार्या रूपल पांड्या ने कहा कि दादा-दादी छाया रूपी वृक्ष है जो अपने पोते-पोतियो को सदैव आशीर्वाद की छाया प्रदान करते हैं और एक सुरक्षा-कवच के रूप में उनकी सुरक्षा करते हैं, तथा वह परिवार की अनमोल विरासत के रूप में है उनके द्वारा दी गईं सीख का अनुकरण कर हमारा जीवन सफल हो जाता है। विद्यालय की प्रधानाचार्या रूपल पाण्ड्य ने कार्यक्रम में उपस्थित सभी मुख्य अतिथि एवं अभिभावकों का आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर विद्यालय की उप प्रधानाचार्या, समस्त शिक्षक एवं शिक्षिकाएं भी उपस्थित रहीं।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment