.

.

.

.
.

आजमगढ़: शारीरिक शोषण की शिकार किशोरी ने फांसी लगा दी जान


पवई थाना क्षेत्र का मामला, पुलिस ने फंदे से शव उतार पोस्टमार्टम को भेजा

आजमगढ़ : जिले के पवई थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली  किशोरी ने शारीरिक शोषण से आजीज आकर शनिवार की सुबह घर में ही फंदा लगा कर जान दे दी। सूचना पर पहुंची पवई थाना पुलिस ने शव को फंदे से उतारा और अंत्यपरीक्षण के लिए भेज दिया। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया है। परिजनों के आरोप के अनुसार 17 वर्षीया किशोरी तीन अगस्त को अंबेडकरनगर जिले के सुरहुरपुर बाजार गई थी। जहां उसे उसे विनोद यादव नाम का एक लड़का अपने साथ लेकर चला गया। उसके साथ विनोद ने शारीरिक संबंध बनाया। ऐसा वह काफी समय से शादी का झांसा देकर करता चला आ रहा था। आरोप है की जब किशोरी ने शादी का दबाव बनाया तो वह टाल गया और उसे उसके गांव के पास लाकर छोड़ गया। किशोरी घर पहुंची और किसी से कुछ कहे बिना ही अपने कमरे में चली गई।
काफी देर तक कमरा नहीं खुला और किशोरी बाहर नहीं निकली तो परिजन उसे बुलाने गए। दरवाजा अंदर से बंद था। काफी पीटने व आवाज देने पर भी कोई सुगबुगाहट अंदर से परिजनों को नहीं मिली। जिस पर परिजनों ने किसी तरह कमरे के अंदर झांका तो वह फंदे पर लटक रही थी। परिजनों ने तत्काल सूचना पवई थाना पुलिस को दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़ कर शव को बाहर निकाला और अंत्य परीक्षण के लिए भेजवा दिया। मृतका के दो बहन व एक भाई बताए गए है। घटना से परिजनों में कोहराम मच गया है। परिजनों ने घटना के बाबत थाने पर विनोद के खिलाफ तहरीर दिया है। परिजनों के अनुसार पहले भी पुलिस को सूचना दी गई थी, लेकिन पुलिस ने आरोपी पर कोई कार्रवाई नहीं किया। यदि पहले कार्रवाई हुई होती तो शायद बेटी फंदे पर नहीं लटकी होती।

Share on Google Plus

रिपोर्ट आज़मगढ़ लाइव

आजमगढ़ लाइव-जीवंत खबरों का आइना ... आजमगढ़ , मऊ , बलिया की ताज़ा ख़बरें।
    Blogger Comment
    Facebook Comment